क्‍या सच में 4 ट्रिलियन के पार पहुंच गई भारत की इकोनॉमी? अर्थशास्त्रियों ने कर दिया बड़ा खुलासा

नई दिल्‍ली ,

भारत की ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्‍ट (GDP) का आंकड़ा अभी 4 ट्रिलियन डॉलर से दूर है, लेकिन अर्थशास्त्रियों (Economist) का कहना है कि हो सकता है यह माइलस्‍टोन अभी ज्‍यादा दूर नहीं हो. वहीं कई मीडिया रिपोर्ट और सोशल मीडिया पर यह दावा किया जा रहा है कि भारत की अर्थव्‍यवस्‍था 4 ट्रिलियन डॉलर के पार जा चुकी है और यह जर्मनी के जीडीपी के बेहद करीब पहुंच गई है. यह भी कहा जा रहा है कि यह दुनिया की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था वाला देश जल्‍द बन सकता है, जबकि अधिकारी आंकड़े जारी नहीं किए गए हैं.

बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, अर्थशास्त्रियों का कहना है कि जीडीपी (Indian GDP) के सरकारी आंकड़े जारी नहीं हुए हैं. वहीं वर्तमान समय में भारत की इकोनॉमी 4 ट्रिलियन डॉलर के पार नहीं दिख रही है. बैंक ऑफ बड़ौदा के चीफ इकोनॉमिस्‍ट मदन सबनवीस ने कहा कि हो सकता है कि वित्त वर्ष 2024-25 भारत का जीडीपी ग्रोथ 10 फीसदी बढ़ जाए, लेकिन अभी 4 ट्रिलियन डॉलर के पार जीडीपी नहीं है.

अधिकारिक पुष्टि नहीं
रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल 4 ट्रिलियन अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर यह भी कहा जा रहा था कि भारत यूके को पीछे छोड़कर दुनिया की तीसरी अर्थव्‍यवस्‍था वाला देश बन चुका है. बिजनेस टुडे के मुताबिक, सोशल मीडिया पर किए गए दावे को अर्थशास्त्रियों ने खारिज किया है. हालांकि अभी तक इसकी कोई अधिकारिक पुष्टि और खंडन नहीं किया गया है. भारत के आधिकारिक जीडीपी अनुमान एक निर्धारित कैलेंडर के अनुसार सांख्यिकी मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी किए जाते हैं.

कब आते हैं जीडीपी के आंकड़े
फाइनेंशियल ईयर 2023-24 के लिए जीडीपी का पहला अग्रिम अनुमान अंतरिम बजट 2024-25 से पहले जनवरी की शुरुआत में उपलब्‍ध होंगे, जिसमें कम बढ़ोतरी का अनुमान भी शामिल होंगे. इसके बाद फरवरी में दूसरी अग्रिम अनुमान आएगा. हालांकि अर्थशास्त्रियों और विशेषज्ञों ने सोशल मीडिया पर साझा किए जा रहे डेटा को लेकर बताया है कि वास्तविक समय की भविष्यवाणी अक्सर भ्रामक होती हैं.

3.65 ट्रिलियन डॉलर की जीडीपी का अनुमान
एमडी और ईएम एशिया अर्थशास्‍त्र के प्रमुख बार्कलेज ने अपने व्‍यक्तिगत एक्‍स अकाउंट पर कहा कि मैं हैरान हूं कि हर कोई स्क्रीनशॉट शेयर कर रहा है. रोलिंग आधार पर भारत 2024 के अंत-2025 की शुरुआत तक 4 ट्रिलियन डॉलर तक नहीं पहुंचेगा. इस वित्त वर्ष के दौरान भारत की जीडीपी लगभग 3.65 ट्रिलियन डॉलर की जीडीपी होगी.

इतनी जीडीपी होने का अनुमान
गौतरतलब है कि केंद्रीय बजट 2023-24 के मुताबिक, भारत की नॉमिनल जीडीपी का अनुमान 301.75 लाख करोड़ रुपये है. यह वित्त वर्ष 2022-23 के 272.41 लाख करोड़ रुपये से 10.5 फीसदी ज्‍यादा है. वहीं अमेरिकी डॉलर के टर्म में यह जीडीपी मौजूदा वित्त वर्ष में 3.63 ट्रिलियन डॉलर के पास हो सकती है.

About bheldn

Check Also

‘चुप रहो, तुम्हारी ही गलती होगी…’, बच्चों के यौन उत्पीड़न पर चुप्पी भारी पड़ रही

2016 से 2022 तक 96% बढ़े बाल यौन उत्पीड़न केस नई दिल्ली बेंगलुरु में एक …