‘EC को जो करना है करे लेकिन…’, पार्टी के कैंपेन सॉन्ग पर चुनाव आयोग की नोटिस पर बोले उद्धव ठाकरे

मुंबई,

लोकसभा चुनाव के बीच पार्टी के कैंपेन वीडियो को लेकर चुनाव आयोग ने जब नोटिस जारी किया तो उद्धव ठाकरे ने कड़ी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, ‘आयोग को जो भी कार्रवाई करनी है करे, लेकिन पहले मोदी और अमित शाह पर करे.’ उन्होंने पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के चुनावी अभियानों का हवाला देते हुए कहा कि वह अपने कैंपेन सॉन्ग में बदलाव नहीं करेंगे.

शिवसेना (यूबीटी) के प्रमोशन सॉन्ग पर चुनाव आयोग ने गाने में भवानी शब्द के प्रयोग को लेकर नोटिस भेजा था. इस पर उद्धव ठाकरे मीडिया के सामने आए और कहा कि देश में अहम मुद्दे पर अब बात नहीं हो रही है. उन्होंने पीएम मोदी और अमित शाह के चुनावी अभियानों पर बात की, जिसमें वे कथित रूप से राम मंदिर के विषय पर बोल रहे थे.

‘मोदी-शाह राम के नाम पर मांग रहे वोट’
उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी के एक रैली का हवाला दिया और बताया कि उस रैली में पीएम मतदाताओं से अपील कर रहे थे, “जब वे वोट देने जाएं तो बजरंग बली के नाम पर बटन दबाएं.” उद्धव ने अमित शाह की एक रैली का हवाला दिया जिसमें वह मतादाताओं से कथित रूप से रामलला के दर्शन के बारे में पूछ रहे थे. उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग पहले इनपर कार्रवाई करे. उन्होंने कहा कि आज ये नेता (पीएम मोदी, अमित शाह) राम के नाम पर वोट मांग रहे हैं, क्या अब नियम बदल गए हैं?

पहले मोदी-शाह पर कार्रवाई करें
उद्धव ठाकरे ने कहा, “ये मुद्दा उठाया जा रहा है क्योंकि हमारा चुनाव चिन्ह मशाल है, और हमने एक प्रेरणा गीत बनाया है. यह जब चुनाव आयोग तक गया तो उन्होंने दो शब्द हटाने के लिए कहा है- एक ‘हिंदू धर्म’ और दूसरा ‘भवानी.’ उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट किया कि वे भवानी माता को लेकर कॉम्प्रोमाइज नहीं करेंगे और अपने कैंपेन सॉन्ग से ये शब्द नहीं हटाएंगे. उद्धव ठाकरे ने कहा कि चुनाव आयोग को जो कार्रवाई करनी है करे, लेकिन उसके पहले मोदी और अमित शाह पर कार्रवाई करे.

About bheldn

Check Also

‘राजस्थान में दलित युवक की पीट-पीटकर हत्या’, पूर्व CM गहलोत बोले- सरकार ‘इमेज मेकिंग में व्यस्त हैं…

झुंझुनूं राजस्थान के झुंझुनूं जिले में शराब माफियाओं की ओर से एक शख्स की पीट …