हरियाणा: डंपर में पत्थर, हाथों में पिस्टल…पुलिस ने पीछा किया तो DSP को कुचला, FIR में खुलासे

नई दिल्ली,

हरियाणा के तावडू (नूंह) में डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई की मंगलवार को खनन माफिया ने डंपर से कुचलकर हत्या कर दी. इस मामले में दर्ज एफआईआर में कई दावे किए गए हैं. एफआईआर के मुताबिक डंपर में 3-4 लड़के बैठे थे. डंपर में पीछे वाली नंबर प्लेट नहीं थी. डंपर के आगे वाली नंबर प्लेट पर HR-74A लिखा था, बाकी नंबर नहीं लिखे थे.

एफआईआर के मुताबिक डीएसपी ने डंपर का पीछा करने के लिए स्टाफ को बोला था क्योंकि अवैध खनन का पत्थर डंपर में भरा हुआ था. जब पुलिसवालों ने डंपर चालकों को रुकने के लिए कहा तो उन्होंने पुलिसवालों को गोली मारने की धमकी दी. इस दौरान आरोपी इक्कर और मित्तर के हाथों में देसी पिस्तौल भी थे.

डंपर में बैठे लोगों ने कहा पुलिसवालों को गाड़ी रोकने का सबक सिखा देंगे. जब उन्होंने डंपर डीएसपी के स्टाफ की ओर तेजी से बढ़ाया तो गाड़ी में सवार पुलिसकर्मियों ने कूदकर अपनी जान बचाई. डीएसपी भी जान बचाने के लिए दूसरी तरफ कूदे लेकिन वह चपेट में आ गए. इसके बाद डंपर चालक ने जानबूझ कर डीएसपी पर हत्या करने के लिए गाड़ी चढ़ा दी.

पुलिस की गोली से डंपर का क्लीनर जख्मी
डीएसपी सुरेंद्र बिश्नोई की हत्या के आरोपियों की धरपकड़ के दौरान पुलिस की आरोपियों के साथ मुठभेड़ हो गई. इसमें डंपर के क्लीनर को पकड़ लिया गया है. एनकाउंटर में उसको गोली भी लगी है. घुटने में गोली लगने के बाद क्लीनर को नलहर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है.

वहीं हरियाणा पुलिस ने इस मामले में चार-पांच और लोगों को भी हिरासत में लिया है. उनसे पूछताछ की जा रही है. हरियाणा के एडीजीपी लॉ एंड ऑर्डर संदीप खिरवार ने बताया कि पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. पर्याप्त संख्या में पुलिस बल मौके पर मौजूद है. हमें उम्मीद है कि जल्द हम आरोपियों को पकड़ लेंगे.

डीएसपी के परिवार को 1 करोड़ की मदद
वहीं हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने ऐलान किया कि नूंह में जान गंवाने वाले डीएसपी के परिवार को एक करोड़ रुपये की राशि दी जाएगी. साथ ही परिवार के एक सदस्य को नौकरी मिलेगी. डीएसपी को सरकार शहीद का दर्जा देगी.

डीएसपी की हत्या पर विपक्ष हमलावर
डीएसपी की हत्या के बाद नेता प्रतिपक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा ने सरकार को घेरा. उन्होंने कहा कि राज्य में विधायकों को धमकियां मिल रही हैं. पुलिस अधिकारी मारे जा रहे हैं. हमने सदन में अवैध माइनिंग का मुद्दा उठाया था. कानून-व्यवस्था का क्या हाल है, ये आप खुद अंदाजा लगा सकते हैं. हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष उदयभान का कहना है कि राज्य में अवैध खनन सरेआम हो रहा है. इस साल माइनिंग के चलते पांच लोगों की जान गई. डीएसपी का मर्डर बिगड़ते कानून-व्यवस्था का उदाहरण है.

कुरुक्षेत्र के रहने वाले थे डीएसपी
डीएसपी बिश्नोई कुरुक्षेत्र के रहने वाले थे. वह तीन महीने बाद रिटायर होने वाले थे. उनके दो बच्चे हैं. बेटी बेंगलुरु में बैंक में कार्यरत है और बेटा कनाडा में पढ़ाई कर रहा है. डीएसपी के छोटे भाई अशोक को-ऑपरेटिव बैंक में ऑफिसर हैं.उन्होंने बताया कि आज सुबह करीब 8 बजे ही बड़े भाई से फोन पर बात हुई थी. उन्होंने कहा था कि जल्द ही घर आऊंगा. डीएसपी के परिजनों ने कहा कि उनकी अंतिम विदाई सारंगपुर (हिसार) के पास आदमपुर में होगी.

About bheldn

Check Also

‘गुनाह के तहत सजा मिलनी चाहिए’, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस वाले बाबा के खिलाफ कर दी एक्शन की मांग

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस हादसे (भोलेबाबा सत्संग) को लेकर बयान …