‘मेरी बेटी छात्रा है बार नहीं चलाती, कांग्रेस को कोर्ट में देखूंगी’, खेड़ा के आरोपों पर स्मृति का पलटवार

नई दिल्ली

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी कांग्रेस पर हमलावर हो गई हैं. कांग्रेस के प्रवक्ता पवन खेड़ा के आरोप पर जबाव देते हुए ईरानी ने एक के बाद एक कई बड़ी बातें कहीं. स्मृति ईरानी ने कहा कि मेरी बेटी कॉलेज में पढ़ाई करती है और वह कोई बार नहीं चलाती है. बता दें कि पवन खेड़ा ने आरोप लगाया था कि स्मृति ईरानी की बेटी बार चलाती हैं. बताया जा रहा है कि स्मृति ईरानी की ओर से आज शाम तक जयराम रमेश और पवन खेड़ा को कानूनी नोटिस भेजा जाएगा. इसके अलावा कांग्रेस महिला अध्यक्ष नेट्टा डिसूजा के खिलाफ भी कानूनी नोटिस भेजेगी. स्मृति ईरानी ने कहा कि 2 अधेड़ उम्र के पुरुषों ने एक 18 साल की लड़की की इज्जत की धज्जियां उड़ाने का दुस्साहस किया है. उस लड़की का दोष यह है कि उस लड़की की मां ने 2014 और 2019 में अमेठी से राहुल गांधी के खिलाफ चुनाव लड़ा.

ईरानी ने कहा कि आज अपनी एक प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस के प्रवक्ता ने हंसते हुए जिस लड़की पर आक्रमण किया, वो राजनीति में नहीं है और एक साधारण कॉलेज स्टूडेंट के रूप में अपना जीवन व्यतीत कर रही है. ईरानी ने कहा कि पवन खेड़ा ने ये कहा कि मेरी बेटी को कारण बताओ नोटिस दिया गया और अपने हाथ में 2 कागज दिखाए. मैं आज पूछना चाहती हूं कि इन कागजों में मेरी बेटी का नाम कहां है?

ईरानी ने कहा कि जिस 18 साल की लड़की की इज्जत पर कांग्रेस के प्रवक्ताओं ने आज हमला किया, उस लड़की का दोष यह है कि उसकी मां स्मृति ईरानी सोनिया गांधी और राहुल गांधी के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस करती है. वो 18 साल की लड़की जो कॉलेज के प्रथम वर्ष में पढ़ती है, उसका दोष यह है कि उसकी मां ने सोनिया गांधी, राहुल गांधी की 5,000 करोड़ की लूट के ऊपर प्रेसवार्ता की.

ईरानी ने कहा कि जयराम रमेश ने कहा कि वो RTI के आधार पर मेरी बेटी पर आरोप मढ़ रहे हैं. मैं जयराम रमेश से पूछती हूं कि क्या RTI की उस एप्पलीकेशन में मेरी बेटी का नाम है, क्या उसके जवाब में मेरी बेटी का नाम है? ईरानी ने कहा कि कांग्रेस के नेताओं ने हंसते हुए कहा कि मैं सोनिया राहुल के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस करती हूं. कहा गया कि मुझसे इस आरोप पर जवाब मांगा जाए, मैं जवाब मांगूगी और कोर्ट के जरिए मागूंगी. ईरानी ने कहा कि कांग्रेस 2024 में राहुल को एक बार फिर अमेठी भेजे, मैं वादा करती हूं कि मैं फिर से राहुल गांधी को धूल चटाउंगी.

सब गांधी परिवार के निर्देशन में हो रहा है: ईरानी
ईरानी ने कहा कि यह सब गांधी परिवार के निर्देश पर हुआ है। उन्होंने कहा, ‘मैं 5,000 करोड़ रुपये की लूट के लिए सोनिया गांधी और राहुल गांधी पर सवाल उठाती रहती हूं, इस कारण ये सब उन्हीं के निर्देशों पर हो रहा है।’ केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश की अमेठी लोकसभा में राहुल गांधी की हार को नहीं पचा पा रही है। उन्होंने कहा, ‘मैं चुनौती देती हूं- राहुल गांधी को अमेठी में फिर से 2024 का लोकसभा चुनाव लड़ने भेजिए, बीजेपी कार्यकर्ता के नाते उन्हें फिर से धूल चटाने का वादा करती हूं।’

ये है पूरा मामला
बता दें कि कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने आरोप लगाया था कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की बेटी के गोवा में बार चलाती हैं. कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि वह जिस पार्टी से जुड़ी हैं, उनकी बेटी भी बहुत संस्कारी होनी चाहिए, लेकिन वो गोवा में एक रेस्टोरेंट चला रही है, जिसने 13 महीने पहले मरे हुए एक शख्स के नाम पर फर्जी लाइसेंस हासिल किया है.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि गोवा में कानून एक व्यक्ति को एक लाइसेंस की अनुमति देता है. इसे “तुलसी संस्कारी बार”, बल्कि “सिली सोल बार” कहा जाता है. इस रेस्टोरेंट में एक नाम के तहत दो लाइसेंस हैं. इसके पास एक रेस्टोरेंट नीति के तहत लाइसेंस भी नहीं है. आपकी पार्टी के लोग लुलु मॉल, हनुमान चालीसा के दीवाने हैं और उनके बच्चे संरक्षण में भ्रष्टाचार में लिप्त हैं. जिस अधिकारी ने लाइसेंसधारियों को नोटिस दिया था. जाहिर तौर पर उसका तबादला किया जा रहा है. गोवा के उस बार में सुरक्षा बल (बाउंसर) घूम रहे हैं.

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने स्मृति ईरानी से मांगा था जवाब
पवन खेड़ा ने स्मृति ईरानी से इस मामले में जवाब देने के लिए कहा था. उन्होंने कहा कि वह राहुल गांधी पर नेशनल हेराल्ड केस में सवाल पूछती हैं, लेकिन सिली सोल बार के बारे में कोई जवाब नहीं देती हैं. गोवा के इस अवैध बार को नोटिस भेजने का साहस दिखाने वाले आबकारी कमिश्नर की आज तलाश की जा रही है. स्मृति ईरानी, पीएम की सबसे पसंदीदा भी हैं, लेकिन उन्हें मोदी सरकार में मंत्री पद से हटाया जाना चाहिए.

 

 

About bheldn

Check Also

जिसने जुर्म किया है उसे ही जांच सौंप दी जाए तो… दिग्विजय सिंह ने NEET घोटाले में पीएम मोदी से कर दी बड़ी मांग

भोपाल नीट यूजी की परीक्षा के रिजल्ट को लेकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय …