शपथ लेते ही राष्ट्रपति मुर्मू बोलीं- जय जोहार, गूंज उठीं तालियां, स्मृति इरानी की खुशी देखिए

नई दिल्ली

सभी को जोहार…। राष्ट्रपति पद की शपथ के बाद द्रौपदी मुर्मू ने एक जुदा अंदाज में सांसदों का अभिवादन किया, तो तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा सेंट्रल हॉल गूंज गया। पीएम मोदी, सभी केंद्रीय मंत्री, बीजेपी और विपक्षी सांसद इसमें शरीक हुए। केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी तो पूरे जोश और गर्व के साथ तालियां बजाती दिखीं। संसद के सेंट्रल हॉल वैसे तो आजादी के बाद से कई लम्हों का गवाह रहा है, लेकिन सोमवार, 25 जुलाई को एक अलहदा और गर्वीला पल उसकी दीवारों में दर्ज हो गया।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने 15वें राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के बाद जैसे ही सभी को जोहार, ये कहते ही संसद का पूरा सेंट्रल हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। उनके इस शब्द को सुनते ही केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी मुस्कान के साथ जोर-जोर से ताली बजाकर उनका अभिनंदन किया। मुर्मू को देश के चीफ जस्टिस एनवी रमन ने शपथ दिलाई। मुर्मू ओडिशा के मयूरभंज जिले से देश के सर्वोच्च पद पर पहुंचने वाली पहली आदिवासी महिला बनी हैं। वह देश की दूसरी महिला और पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति बनी हैं।

शपथ के भाषण और जोरदार तालियां
मुर्मू ने शपथ लेने के बाद संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में दोनों सदनों के नेताओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने जैसे ही जोहार शब्द कहा, पूरा कक्ष तालियों की गड़गड़ागट से गूंज उठा। केंद्रीय मंत्री इरानी तो काफी खुश दिख रही थीं। दरअसल, महिला राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने की घोषणा के बाद ही इरानी ने इसका जोरदार स्वागत किया था। जैसे ही मुर्मू ने जोहार शब्द बोला तो इरानी बेहद खुश दिखीं। दरअसल, जोहार का मतलब नमस्कार होता है। आदिवासी इलाकों में इसका इस्तेमाल होता है।

जोहार से कई संदेश
मुर्मू के जय जोहरा शब्द ने कई संदेश दे दिए हैं। देश की पहली महिला आदिवासी राष्ट्रपति बनने का गौरव पाने वालीं मुर्मू ने जोहार शब्द से उस तबके को भी जोड़ा जिनसे उनका ताल्लुक है। इरानी की ताली और जोहार कई संदेश दे रहा है।

About bheldn

Check Also

NDA कल करेगा लोकसभा स्पीकर पद के उम्मीदवार का ऐलान, 26 जून को होना है चुनाव

नई दिल्ली, संसद के निचले सदन लोकसभा  के नए अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर सियासी …