तो अब बिहार में होगा खेला? सेंटर में लालू… निशाने पर नीतीश, BJP ने दे दिया संकेत कुछ बड़ा होने वाला है

पटना

मणिपुर के जेडीयू विधायकों के बीजेपी में शामिल होने के बाद जदयू और भाजपा आमने-सामने आ गए हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मणिपुर में जदयू के विधायकों के भाजपा में शामिल कराए जाने के बाद भाजपा पर भड़के हैं तो भाजपा ने भी पलटवार करने में देर नहीं की। बिहार में विपक्ष के नेता विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि नीतीश कुमार कहते हैं किसी पार्टी के जीतने वाले को अपनी तरफ लेना लोकतंत्र का हनन है, ऐसा कर वे खुद को और लालू यादव को ही कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। विजय सिन्हा ने कहा कि शनिवार को जब वे पत्रकारों से बात कर रहे थे, तो उनके बगल में खड़े मंत्री अशोक चौधरी भी बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष थे। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि अभी हाल ही आपके सहयोगी तेजस्वी यादव ने एआईएमआईएम का विलय कराया तो क्या वह सही था?

उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि पूर्व में जो आपने दर्जनों विधायकों को लोजपा, बसपा, कांग्रेस, राजद से तोड़ा तो क्या वह सब पुण्य का काम था ? विजय सिन्हा ने तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री का दोहरा चरित्र पता नहीं चलता है। वे बयान भी बदलते रहते हैं और पाला भी। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि आज लगातार नीतीश कुमार का जनाधार घट रहा है। वर्ष 2010 में जदयू की 115 सीट थी, 2015 में 70 पर आए और 2020 में 43 पर आ गए। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि वर्ष 2025 में यह आंकड़ा इकाई में रह जाएगा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार पर अब न जनता को विश्वास रहा, न जन प्रतिनिधियों को, वे विश्वास हासिल करने के बजाय भाजपा को कोसने में लगे हैं, लेकिन इससे उन्हें कुछ हासिल नहीं होगा।

अब जदयू मुक्त बनेगा बिहार
मणिपुर में जदयू विधायकों के भाजपा में शामिल होने से गदगद सुशील मोदी ने नीतीश कुमार पर जवाबी हमला बोलते हुए ट्वीट कर कहा कि अरुणाचल के बाद मणिपुर भी जदयू मुक्त। बहुत जल्द लालूजी बिहार को भी जदयू मुक्त कर देंगे। दरअसल भाजपा से अलग होकर लालू प्रसाद की पार्टी राजद से मिलकर महागठबंधन की सरकार बनाने के बाद नीतीश कुमार ने भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। 2024 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी और भाजपा को हराने के लिए नीतीश कुमार लगातार सभी विपक्षी दलों के एक साथ आने की वकालत कर रहे हैं। हाल ही में तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव से पटना में मुलाकात के दौरान नीतीश कुमार ने भाजपा मुक्त भारत बनाने यानी 2024 में दिल्ली की गद्दी से नरेंद्र मोदी को हटाने के अभियान की बात कही थी। नीतीश कुमार के ‘भाजपा मुक्त भारत’ के जवाब में बीजेपी ने भी ‘जदयू मुक्त बिहार’ बनाने की बात कही है।

लालू खत्म करेंगे जेडीयू
गौरतलब है कि जदयू-भाजपा गठबंधन की सरकार में लंबे समय तक उपमुख्यमंत्री रहे सुशील मोदी ने महागठबंधन सरकार के गठन के बाद से ही नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। भाजपा लगातार महागठबंधन की ‘दरार’ को उभारने का प्रयास करते हुए यह कह रही है कि नीतीश कुमार ने जनादेश का अपमान किया है और उनके नए सहयोगी लालू ही उनकी पार्टी (जदयू ) को राजनीतिक रूप से खत्म कर देंगे।

जनता देख रही, भाजपा क्या कर रही है: नीतीश
इससे पहले, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर सभी विपक्ष एकजुट हो जाते हैं, 2024 का परिणाम बहुत अच्छा होगा। नीतीश कुमार पटना में पत्रकारों द्वारा मणिपुर में जदयू के विधायकों के भाजपा में शामिल होने के संबंध में पूछे जाने पर कहा कि हमें यह सोचने की जरूरत है कि क्या हो रहा है। यह क्या कृत्य हो रहा है। यह पहली बार हो रहा है। उन्होंने कहा कि जब वह एनडीए से अलग हुए, तो मणिपुर के सभी छह विधायक आए और उनसे मिले, उन्हें आश्वासन दिया कि वे जदयू के साथ हैं। उन्होंने कहा कि विधायक पार्टियों से नाता क्यों तोड़ रहे हैं। उन्होंने भड़कते हुए कहा, जरा सोचिए क्या हो रहा है। वे अन्य पार्टियों से जीतने वाले विधायकों को कैसे तोड़ रहे हैं? उन्होंने कहा कि जनता देख रही है कि भाजपा क्या कर रही है।

About bheldn

Check Also

‘पापा कहां चले गए…’, मेरठ में 4 साल की बेटी ने 74 साल के पिता को दी मुखाग्नि, रिश्तेदारों के छलके आंसू

मेरठ , उत्तर प्रदेश के मेरठ में चार साल की एक बेटी ने अपने 74 …