‘जब तक BJP है तब तक भारत-पाकिस्तान के संबंध अच्छे नहीं हो सकते’, इमरान खान के जहरीले बोल

इस्लामाबाद

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि वह भारत के संबंध अच्छे संबंध चाहते हैं। यह पाकिस्तान की जरूरत है। लेकिन यह तब तक मुमकिन नहीं होगा, जब तक भारत में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की सरकार रहेगी। ब्रिटिश अखबार द टेलीग्राफ को दिए एक इंटरव्यू में इमरान खान ने उन आर्थिक लाभों पर बात किया जो दोनों देशों के बीच अच्छे संबंधों के जरिए हासिल हो सकते हैं। इमरान ने कहा, ‘बहुत बड़ा लाभ होगा। लेकिन जम्मू-कश्मीर पर भारत का रुख मुख्य रोड़ा होगा। हमें इस मुद्दे पर एक मजबूत रोडमैप की जरूरत है।’

इमरान खान ने कहा, ‘मुझे लगता है अच्छे संबंध संभव हैं लेकिन बीजेपी की सरकार हार्डलाइन है और उनके मुद्दे राष्ट्रवाद से जुड़े होते हैं। राष्ट्रवाद का जिन अगर बोतल से बाहर आ जाए तो उसे वापस बंद करना बहुत मुश्किल हो जाता है।’ भारत के साथ संबंधों को पाकिस्तान की ओर से खराब किया गया है। इमरान खान की सरकार के दौरान ही भारत के साथ ट्रेड रिलेशन खत्म किया गया। इसका जिक्र करते हुए इमरान ने कहा, ‘जब भारत ने धारा 370 को खत्म कर दिया और कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा छीन लिया तो हमें उनके साथ संबंध खत्म करने पड़े।’

पाकिस्तान ने खराब किए थे संबंध
5 अगस्त 2019 को कश्मीर के विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया गया था। इसी महीने में औपचारिक रूप से पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने संबंधों को घटा दिया था। इमरान ने कहा कि हम अफगानिस्तान, ईरान और चीन समेत पाकिस्तान के सभी पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं। ‘हम दोनों देशों के बीच अच्छे संबंध चाहते हैं। हम नहीं चाहते कि एक बार फिर शीत युद्ध जैसी स्थिति बने।’ भारत और पाकिस्तान चार युद्ध लड़ चुके हैं और हर बार इसमें पाकिस्तान को ही हार का सामना करना पड़ा है।

अच्छे संबंध की वकालत कर रहे इमरान
पाकिस्तान में अगले साल आम चुनाव होने वाले हैं। इमरान खान सत्ता में आना चाहते हैं। अप्रैल में उन्हें एक अविश्वास प्रस्ताव के जरिए हटा दिया गया था। इमरान ने इसके लिए अमेरिका को जिम्मेदार ठहराया था। लेकिन हाल ही में एक इंटरव्यू में इमरान ने कहा कि अब वह इसके लिए अमेरिका को दोषी नहीं मानते हैं। इमरान ने कहा है कि अगर वह प्रधानमंत्री बनते हैं तो वह अपने सभी पड़ोसियों के साथ अच्छे संबंध स्थापित करेंगे। इमरान ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि 12 करोड़ लोगों को गरीबी से निकालें और इसके लिए सभी से अच्छे संबंध जरूरी हैं।

About bheldn

Check Also

नीतीश के ‘इतना बाल-बच्चा’ पर राबड़ी देवी का पलटवार, कहा- सीएम के एक बेटा है, उसे भी नहीं संभाल पाए

पटना बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के ‘इतना बाल-बच्चा’ पर …