क्या वाकई में नरेंद्र का रिकॉर्ड तोड़ने जा रहे हैं भूपेन्द्र ? जानिए क्या कहते गुजरात के विश्लेषक

अहमदाबाद

गुजरात विधानसभा चुनावों के एक्जिट पोल में बीजेपी की प्रचंड वापसी का अनुमान व्यक्त किया गया है। कुछ एक्जिट पोल में बीजेपी में बीजेपी के अधिकतम 148 से 151 सीटें जीतने का आंकलन है। 15वें विधानसभा चुनाव में अगर बीजेपी को जीत मिलती है जो पार्टी राज्य में सातवीं बार सरकार बनाएगी, लेकिन सबसे ज्यादा दिलचस्पी इस बात को लेकर है कि क्या राज्य में वकाई में बीजेपी रिकॉर्डतोड़ जीत दर्ज करने जा रही है? क्या सीएम भूपेन्द्र पटेल नरेंद्र मोदी के 127 सीटें को क्रॉस करने के आगे निकल जाएंगे और कांग्रेस के दिग्गज नेता माधव सिंह सोलंकी के 149 सीटों को कीर्तिमान को तहस-नहस कर देंगे और नया कीर्तिमान बनाएंगे?

नवभारत टाइम्स ऑनलाइन ने बीजेपी की सत्ता में वापसी और रिकॉर्डतोड़ जीत की संभावना पर गुजरात के वरिष्ठ विश्लेषकों और पत्रकारों से बात की तो वे बंटे हुए नजर आए। लंबे समय टीवी पत्रकारिता में सक्रिय रहे लेखक और विश्लेषक धीमंत पुरोहित ने कहा कि बीजेपी पुराना रिकॉर्ड ही दोहराएगी। उनके मुताबिक 100 के आसपास ही बीजेपी की सीटें आएंगी। पुरोहित कहते हैं कि इसके पीछे की वजह है कि कम वोटिंग और उत्साह की कमी। बीजेपी के वोटर, कार्यकर्ताओं और कैडर में जोश नहीं था। पुरोहित ने कहा कि उनके हिसाब से कांग्रेस को 60-70 सीट मिलेगी। आप 6 प्रतिशत के करीब वोट शेयर हासिल करेगी और उसे 10 से कम सीटें मिलेंगी। जब यही सवाल राजनीतिक विश्लेषक डॉ. जयेश शाह से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि एक्जिट पोल रिकॉर्डतोड़ जीत का आंकलन है अनुमान है। उनकी नजर में बीजेपी 120 से 130 सीट के आसपास जीतेगी। शाह कहते हैं कि वोटिंग 65 फीसदी से कम हुई है। अगर वोटिंग 70 के ऊपर हुई होती तो निश्चित तौर स्थिति दूसरी होती। उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि बीजेपी माधव सिंह सोलंकी के 149 सीटों के रिकॉर्ड को तोड़ने जा रही है।

नरेंद्र मोदी का टूटेगा रिकॉर्ड
गुजराती सांध्य डेली न्यूजपेपर हेडलाइन के एडीटर जगदीश मेहता कहते हैं, बीजेपी का राज्य में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 127 सीटों का है। बीजेपी इस आंकड़े के क्रॉस कर सकती है। माधव सिंह सोलंकी के खाम के रिकॉर्ड को धवस्त नहीं कर पाएगी। मेहता कहते हैं कि एंटी बीजेपी वोटों का बंटवारा और आखिरी वक्त में आम के प्रचार में आई कमी से मैदान बीजेपी को मिल गया। इसका पूरा फायदा बीजेपी ने उठाया। वरिष्ठ पत्रकार और विश्लेषक दिलीप गोहित कहते हैं एक्जिट पोल गलत साबित होंगे। रिकॉर्ड नहीं टूटेगा, क्योंकि मुकाबला त्रिकोणीय है।

2017 में मिली थीं सिर्फ 99 सीटें
गुजरात में विधानसभा कुल सीटों की संख्या 182 है। इसमें 40 सीटें आरक्षित हैं। 27 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए और 13 सीटें अनुसूचित जाति के लिए रिजर्व हैं। विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 92 सीटों का है। 2017 के चुनाव में सत्तारूढ़ बीजेपी मुश्किल से सरकार बचा पाने में सफल रही थी। दो दशक में पहली बार पार्टी की सीटों की संख्या दो अंकों में सिमट गई थी और बीजेपी सिर्फ 99 सीटें जीत सकती थी। कांग्रेस को 2017 के चुनाव 77 सीटें मिली थीं, जबकि कांग्रेस से गठबंधन करके लड़ी भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) को 2 सीटें मिली और 1 सीट पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) विजयी हुई थी। तीन सीटों पर निर्दलीय जीते थे। इनमें वडगाम से दलित नेता जिग्नेश मेवाणी की कांग्रेस के समर्थन से जीत हुई थी।

About bheldn

Check Also

‘गुनाह के तहत सजा मिलनी चाहिए’, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस वाले बाबा के खिलाफ कर दी एक्शन की मांग

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस हादसे (भोलेबाबा सत्संग) को लेकर बयान …