पाकिस्तान की बदहाली की एक और तस्वीर, जमीन पर बैठकर एग्जाम देते दिखे कैंडिडेट

नई दिल्ली,

कंगाल पाकिस्तान से एक और चौंका देने वाली तस्वीर सामने आई है. यहां बेरोजगारी का आलम ये है कि सरकारी नौकरी के लिए परीक्षा देने आए अभ्यर्थियों को स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में में जमीन पर बैठाना पड़ा. ये उम्मीदवार पुलिस भर्ती की परीक्षा देने के लिए आए थे. सोशल मीडिया पर ये तस्वीर खूब वायरल हो रही है. यूजर्स पाकिस्तान की सरकार को घेर रहे हैं. इस्लामाबाद पुलिस भर्ती में भारी भीड़ ने देश में बेरोजगारी पर एक नई बहस छेड़ दी है.

बताते चलें कि पाकिस्तान की आर्थिक हालत बहुत खराब है. देश का खजाना करीब-करीब खाली हो गया है. वहां रसोई गैस से लेकर जरूरी सामान तक की किल्लत है. आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने लोन देने से पहले एक खास नसीहत दी है. IMF ने कहा है कि पाकिस्तान को अपने खर्च कम करने की जरूरत है. पाकिस्तानी न्यूज चैनल, ARY के अनुसार, IMF पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय और संघीय राजस्व बोर्ड (FBR) के प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं है. 

पुलिस भर्ती का एग्जाम देने आए थे उम्मीदवार
इस बीच, पाकिस्तान में बेरोजगारी भी चरम पर पहुंच गई है. सरकारी नौकरियों में भर्ती ना के बराबर होने से बेरोजगारों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. हालात ये हैं कि भर्तियों में लाखों की संख्या में आवेदन किए जा रहे हैं. हाल ही में एक तस्वीर सामने आई है. मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक, ये तस्वीर इस्लामाबाद में स्थित स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स की है. यहां पुलिस जॉब्स में 1667 सीटों के लिए 32000 उम्मीदवारों ने हिस्सा लिया और परीक्षा देने पहुंचे.इस्लामाबाद पुलिस के अनुसार, पिछले पांच वर्षों से पुलिस कांस्टेबल के पद खाली पड़े थे. सभी चरणों की परीक्षाओं के लिए पुख्ता सुरक्षा इंतजाम किए गए थे.

पाकिस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट इकोनॉमिक्स (PIDE) द्वारा 2022 में जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, देश के 31 प्रतिशत से ज्यादा युवा वर्तमान में बेरोजगार हैं. इन 31 प्रतिशत में से 51 प्रतिशत महिलाएं हैं जबकि 16 प्रतिशत पुरुष हैं, जिनमें से कई डिग्रीधारक हैं. पाकिस्तान की करीब 60 फीसदी आबादी 30 साल से कम उम्र की है. जबकि मौजूदा बेरोजगारी दर 6.9 फीसदी है.

वैश्विक मंच से आर्थिक मदद मांग रहा है पाकिस्तान
इस्लामाबाद पुलिस के अनुसार, पुलिस कांस्टेबल भर्ती प्रक्रिया के लिए 1,667 रिक्तियों का विज्ञापन निकाला गया था. इसके लिए पूरे पाकिस्तान से 30,000 से ज्यादा पुरुष और महिला उम्मीदवारों ने फॉर्म भरा और लिखित परीक्षा में हिस्सा लिया है. बताते चलें कि पाकिस्तान पिछले काफी समय से आर्थिक संकटों से जूझ रहा है. पिछले साल पाकिस्तान में जहां राजनीतिक स्थिरता का संकट देखने को मिला तो वहीं बाढ़ ने एक तिहाई पाकिस्तान के लाखों लोगों को गंभीर तरह से अपनी चपेट में ले लिया. बाढ़ से पाकिस्तान को आर्थिक नजरिए से भी काफी नुकसान पहुंचा और पहले से खराब अर्थव्यवस्था की हालत और बिगड़ गई. पाकिस्तान ने वैश्विक मंच पर मदद की मांग भी की, जिसके बाद कई देशों की ओर से मदद भी की गई.

IMF, जुलाई में पाकिस्तान के लिए लोन की राशि बढ़ाने के लिए राजी हुआ था. जिसके तहत पाकिस्तान को 1.2 अरब डॉलर का अतिरिक्त ऋण देने की बात हुई थी. इस लोन के मिलने के बाद पाकिस्तान पर आईएमएफ का 7 अरब डॉलर कर्ज हो जाएगा. न्यूज एजेंसी रायटर्स के अनुसार, आईएमएफ ने लोन कार्यक्रम की नौंवी समीक्षा बातचीत से पहले पाकिस्तान को खर्च कम करने की नसीहत दी है.

About bheldn

Check Also

गाजा के नुसीरत रिफ्यूजी कैंप पर इजरायल ने की बमबारी, दो दर्जन से ज्यादा फिलिस्तीनियों की मौत

नई दिल्ली, गाजा में उठते धुएं का गुबार. लगातार हो रही बमबारी. बारूद की बौछार …