75 साल बाद दोहरा रहा इतिहास… लाल चौक पर झंडा फहराने पर राहुल गांधी की जवाहर लाल नेहरू से क्यों हो रही

लाल चौक

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को अपनी भारत जोड़ो यात्रा के तहत श्रीनगर में लाल चौक के ऐतिहासिक घंटाघर पर कड़ी सुरक्षा के बीच राष्ट्रीय ध्वज फहराया। तिरंगा फहराने के लिए घंटाघर की ओर रवाना होने से पहले राहुल ने सोनावर में यात्रा से 30 मिनट का विश्राम लिया और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मौलाना आज़ाद रोड स्थित मुख्यालय पहुंचे।लाल चौक पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के दौरान राहुल की बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी मौजूद रहीं।जवाहर लाल नेहरू ने 1948 में लाल चौक पर तिरंगा फहराया था।

लाल चौक पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के दौरान राहुल की बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी मौजूद रहीं। 10 मिनट के इस कार्यक्रम के लिए सुरक्षा व्यवस्था बेहद पुख्ता थी। लाल चौक की तरफ जाने वाली सभी सड़कों को शनिवार रात से ही सील कर दिया गया था। लाल चौक की तरफ जाने वाले ट्रैफिक को शनिवार से ही डायवर्ट कर दिया गया था।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष द्वारा लाल चौक पर ध्वजारोहण के लिए सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर दुकानों, व्यापारिक प्रतिष्ठान और साप्ताहिक पिस्सू बाजार को बंद कर दिया गया था। 30 जनवरी को राहुल गांधी एमए रोड स्थित पार्टी मुख्यालय में तिरंगा फहराएंगे, जिसके बाद एसके स्टेडियम में एक जनसभा आयोजित की जाएगी।

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …