‘मैंने 100 साल पुराने 3 मंदिरों को तोड़ा…’, डीएमके नेता का एक और बयान, बीजेपी ने बोला हमला

मदुरै,

डीएमके (द्रविड़ मुन्नेत्र कड़गम) नेता टी. आर. बालू इन दिनों अपने विवादित बयानों को लेकर चर्चा में हैं. बीते दिनों उन्होंने अपनी पार्टी के नेता एवं मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन को छूने वाले के हाथ काटने की धमकी दी थी. अब उनका एक वीडियो सामने आया है. इसमें वो कह रहे हैं कि उन्होंने 100 साल पुराने तीन मंदिरों को तोड़ा है.

पता था कि वोट नहीं मिलेंगे- टी. आर. बालू
गौरतलब है कि विवादों में घिरे सांसद टी. आर. बालू का एक वीडियो वायरल हो रहा है. एक सभा को संबोधित करते हुए वो कह रहे हैं, “मैंने 100 साल पुराने सरस्वती मंदिर, लक्ष्मी मंदिर और पार्वती मंदिर को तोड़ा है. ये तीनों मंदिर मेरे निर्वाचन क्षेत्र में जीएसटी रोड पर थे. मैंने ये जानबूझकर किया क्योंकि पता था कि वोट नहीं मिलेंगे.”

डीएमके के लोग मंदिरों को गिराने में गर्व महसूस करते हैं
उनके इस वीडियो को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अन्नामलाई ने ट्विटर पर शेयर किया है. उन्होंने कहा कि डीएमके के लोग 100 साल पुराने हिंदू मंदिरों को गिराने में गर्व महसूस करते हैं. यही कारण है कि हम HR&CE (हिंदू धार्मिक और धर्मार्थ बंदोबस्ती अधिनियम) को भंग करना चाहते हैं और मंदिरों को सरकार के चंगुल से मुक्त कराना चाहते हैं.

स्टालिन को छूने वाले शख्स के हाथ काटने से हिचकूंगा नहीं
इससे पहले बालू ने कहा था कि वह पार्टी अध्यक्ष एवं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम. के. स्टालिन को छूने वाले के हाथ काट देंगे. बालू ने कहा कि यह उनका धर्म है. यह सही नहीं है तो आप कोर्ट जा सकते हैं.टी आर बालू ने कहा, “मैं अपने नेता स्टालिन या वीरमणि को छूने वाले शख्स के हाथ काटने से हिचकूंगा नहीं. यह मेरा धर्म है. अगर आपको लगता है कि यह सही नहीं है तो आप कोर्ट जा सकते हैं. लेकिन तब तक मैं काम कर चुका हूंगा.”

ऐसा करना ही न्याय है- टी. आर. बालू
उन्होंने कहा कि वो बहुत सख्त हैं. जब कुछ गलत होता है तो बहुत गुस्सा आता है. जब गलत चीजें होती हैं तो वो बेकार नहीं बैठ सकते. अगर कोई डीके प्रमुख वीरामणि को गाली देगा तो चुप नहीं बैठ सकता. कहा कि अगर उनकी पार्टी के नेता को किसी ने गाली देने की कोशिश की या वीरामणि के खिलाफ हाथ उठाया तो हाथ काट दिया जाएगा. ऐसा करना ही न्याय है.

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …