‘मुगलों के योगदान को हम नहीं हटाना चाहते…’, शहरों के नाम बदलने पर बोले अमित शाह

नई दिल्ली,

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने दावा किया है कि इस बार भी त्रिपुरा में बीजेपी की सरकार बनेगी. अमित शाह ने कहा कि इस बार बीजेपी का त्रिपुरा में सबसे अच्छा प्रदर्शन होगा. बीजेपी इस बार पिछली बार से ज्यादा सीटें जीतेगी और हमारा वोट प्रतिशत भी बढ़ेगा. इतना ही नहीं अमित शाह ने दावा किया कि इस साल होने वाले चुनावों में कर्नाटक, मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में बीजेपी की सरकार बनेगी.

समाचार एजेंसी एएनआई को दिए इंटरव्यू में अमित शाह ने त्रिपुरा विधानसभा चुनाव, पीएफआई, बीजेपी में परिवारवाद, राहुल गांधी छवि, खालिस्तान, हिंडनबर्ग-अडानी विवाद, बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर बैन, जी-20 समिट की अध्यक्षता और शहरों के नाम बदलने जैसे मुद्दों पर बात की. इस दौरान शाह ने कहा, इस बार बीजेपी से त्रिपुरा में सभी पार्टियां भयभीत हैं. यही वजह है कि राज्य में लेफ्ट पार्टी भी इस बार कांग्रेस के साथ आ गई है.

हम मुगलों के योगदान को हटाना नहीं चाहते- अमित शाह
जब शहरों के नाम बदलने को लेकर अमित शाह से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा, हम मुगलों के योगदान को नहीं हटाना चाहते हैं. न ही किसी के योगदान को हटाना चाहते हैं. लेकिन इस देश की परंपरा को अगर कोई स्थापित करना चाहते हैं तो इसमें कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए. हमने एक भी शहर ऐसा नहीं है, जिसका नाम पुराना हो और हमने नाम बदला हो. हमने बहुत सोच समझकर हमारी सरकारों ने फैसला किया है. राज्यों के पास इसका वैधानिक अधिकार है.

बिप्लब देब को हटाया नहीं, उनका प्रमोशन हुआ- अमित शाह
अमित शाह से जब पूछा गया कि त्रिपुरा के पूर्व सीएम बिप्लब देब को हटाकर माणिक साहा को सीएम बनाया गया, क्या आपको उन पर भरोसा नहीं था. इस पर अमित शाह ने कहा कि सभी पार्टियों का एक सिस्टम होता है. बीजेपी में भी जब केंद्रीय राजनीति में नेताओं की जरूरत होती है, तो उन्हें राज्यों से लेकर आया जाता है.

अमित शाह ने कहा, हम बिप्लब देब को राज्यसभा लेकर आए, हमें उन्हें राष्ट्रीय मंत्री बनाया. दिल्ली से सटे हरियाणा राज्य का प्रभारी बनाया. मैं इसे प्रमोशन के तौर पर देखता हूं. बिप्लब देब बीजेपी के लिए राष्ट्रीय स्तर पर काम कर रहे हैं. इसके साथ ही वे त्रिपुरा में माणिक साहा की मदद कर रहे हैं.

हमने त्रिपुरा में हिंसा खत्म की- अमित शाह
अमित शाह ने कहा, हमने त्रिपुरा से हिंसा को खत्म कर दिया. इतना ही नहीं हम ड्रग्स का काम करने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई कर रहे हैं. आज नॉर्थईस्ट में शांति है. हमारी सरकार ने उग्रवादियों से एग्रीमेंट किए हैं. 8000 से ज्यादा उग्रवादियों ने सरेंडर कर दिया. नॉर्थईस्ट के इलाके को पहले बंद के लिए जाना जाता था, आज वहां विकास हो रहा है.

अमित शाह ने बताया कि पिछले 9 साल में पीएम मोदी ने नॉर्थ ईस्ट का 51 बार दौरा किया. आजादी के बाद कोई भी प्रधानमंत्री इतनी बार नॉर्थ ईस्ट नहीं गया. पिछले 9 वर्षों में, पूर्वोत्तर की स्थानीय भाषाएं मजबूत हुई हैं, प्राथमिक शिक्षा भी क्षेत्रीय भाषाओं में दी जा रही है. बीजेपी सरकार ने पूर्वोत्तर की पहचान को मजबूत किया है.

हमने पीएफआई पर बैन लगाया- अमित शाह
अमित शाह ने कहा कि हमने पीएफआई पर बैन लगाया है. मैंने पिछले दिनों कहा था कि कांग्रेस ने पीएफआई कैडर के खिलाफ लगे अलग अलग केसों को खत्म करने का प्रयास किया. कोर्ट ने इसपर रोक भी लगाई. मैंने सच बोला है, इसमें पता नहीं कांग्रेस नेताओंं को बुरा क्यों लग रहा है. हमने कठोरता से पीएफआई पर बैन लगाया है. इसका किसी ने कोई विरोध नहीं किया.

About bheldn

Check Also

लोकसभा चुनाव: क्या कन्हैया पर हमले की निंदा करेंगे प्रधानमंत्री? मोदी से कांग्रेस नेता जयराम रमेश का सवाल

नई दिल्ली: कांग्रेस ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से अपने उम्मीदवार कन्हैया कुमार पर हमले …