‘…कोई घाघरा रिमोट से उठाकर विधायक-सांसद बन रहा’, गानों की अश्लीलता पर नेहा का तंज

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में साहित्य आजतक के मंच पर लोक गायिका नेहा सिंह राठौर ने यूपी में का बा से लेकर कानपुर कांड को लेकर अपनी पंक्तियां सुनाईं. नेहा सिंह राठौर ने लखनऊ में साहित्य आजतक के मंच से पुलिस की ओर से दी गई नोटिस को लेकर सवालों के बेबाकी से जवाब दिए और साथ ही पुलिस को गिरफ्तारी की चुनौती भी दी.

नेहा सिंह राठौर ने भोजपुरी में अश्लील गानों के बढ़ते चलन से लेकर गायकों के नेता बनने तक, कवियों-साहित्यकारों में सरकार की शान में कसीदे पढ़े जाने तक, तमाम विषयों को लेकर तंज किया और जनता से जुड़ी समस्याओं को लेकर अपने गीत भी सुनाए. नेहा सिंह राठौर ने संविधान के तहत नागरिकों को मिले अधिकार के प्रति लोगों को जागरूक करता गीत भी सुनाया.

क्या केवल एक नेहा सिंह राठौर ही ऐसी गायिका हैं जो समाज से जुड़े मुद्दे उठा रही हैं, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि भोजपुरी में बाकी सब तो देख ही रहे हैं. अश्लील गाने गाए जा रहे हैं. नेहा सिंह राठौर ने किसी का नाम लिए बिना निशाना साधा और कहा कि भोजपुरी में आज कोई चोलिया के हुक गा रहा है तो कोई घाघरा रिमोट से उठाकर विधायक-सांसद बन जा रहा है.

नेहा ने सुनाए अपने गीत
नेहा सिंह राठौर ने लखनऊ के अंबेडकर मेमोरियल पार्क में सजे साहित्य के महाकुंभ में अपने गीत भी सुनाए. उन्होंने यूपी में का बा से लेकर ‘संविधान के समझ अधिकार भैया..’ तक, जनता के सरोकारों से जुड़े अपने कई लोकगीत सुनाए. नेहा सिंह राठौर ने इस दौरान विपक्ष की भाषा बोलने से लेकर राजनीतिक विरोध तक, तमाम आरोप के जवाब भी दिए.

जब दर्शकों पर भड़कीं नेहा
इस दौरान नेहा सिंह राठौर दर्शकों पर भी भड़क गईं. दरअसल हुआ ये कि नेहा सिंह राठौर जब मंच पर थीं, दर्शकों की ओर से कुछ सवाल किए जाने लगे. नेहा सिंह राठौर इस पर भड़क गईं और कहा कि मैं तो लोक गायिका हूं. सवाल पूछना है तो सरकार से करो ना. सरकार के सामने तो आवाज ही नहीं निकलेगी. दर्शकों की ओर से ये आवाज भी आई कि जब बिहार की बात आती है तो आवाज सूख जाती है.

नेहा सिंह ने इस पर कहा कि क्या बोले भैया, बिहार को लेकर आवाज सूख जाती है. हमने बिहार को लेकर काफी कुछ लिखा है. उन्होंने कहा कि कुछ सुना भी दे रही हूं जो हमने बिहार को लेकर लिखा है. नेहा सिंह राठौर ने इसके बाद ‘भैया हईं हम बिहारी, दिल्ली जात बानी हो… कई के मजूरी हम कमात बानी हो’ सुनाया.

About bheldn

Check Also

बंगाल: 2010 के बाद जारी सभी OBC प्रमाणपत्र HC से खारिज, ममता बोलीं- आदेश नहीं मानूंगी

कोलकाता, कलकत्ता हाई कोर्ट ने बुधवार को 2010 के बाद से पश्चिम बंगाल में जारी …