त्रिपुरा में नया CM कौन? नगालैंड -मेघालय में भी सरकार बनाने के लिए BJP में मंथन

नई दिल्ली,

नॉर्थ ईस्ट के चुनावी परिणाम आने के बाद दिल्ली में भारतीय जनता पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व की बड़ी बैठक शुरू हो गई है. गृह मंत्री अमित शाह के घर यह बैठक हो रही है. इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा भी पहुंचे हैं. यहां त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री के नाम पर मंथन हो रहा है. त्रिपुरा चुनाव में बीजेपी गठबंधन ने 33 सीटें जीती हैं. माणिक साहा ने CM के पद से इस्तीफा दे दिया है.

इसके अलावा, नगालैंड और मेघालय में मंत्रियों के नामों पर चर्चा हो रही है. सात और आठ मार्च को इन तीनों राज्यों में नई सरकारों का शपथ ग्रहण होना है. बीजेपी ने त्रिपुरा में दोबारा जीत दर्ज की है. जबकि नगालैंड और मेघालय में फिर से गठबंधन सरकार का हिस्सा बनने जा रही है. मेघालय में बीजेपी ने फिर NPP के साथ गठबंधन करने का फैसला लिया है. चुनाव से पहले दोनों दलों का गठबंधन टूट गया था और अलग-अलग चुनाव मैदान में उतरे थे. मेघालय में मुख्यमंत्री कॉनराड संगमा की NPP सबसे बड़ी पार्टी बन गई है.

वहीं, नगालैंड में नेशनल डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी की सरकार बनने जा रही है. यहां नेफ्यू रियो CM हैं. बीजेपी के साथ गठबंधन है. फिलहाल, त्रिपुरा में किन-किन नेताओं को मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी, इसे लेकर चर्चा हो रही है. इसके साथ नगालैंड और मेघालय में बीजेपी के कोटे से गठबंधन सरकार में मंत्री पद को लेकर भी चर्चा हो रही है.

नगालैंड में दूसरी बार सत्ता में लौटी बीजेपी
पूर्वोत्तर राज्य नगालैंड में चुनाव जीतने के बाद एनडीपीपी-भाजपा सरकार 7 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में शपथ लेगी. आधिकारिक सूत्रों ने जानकारी दी कि नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (NDPP) और बीजेपी ने 27 फरवरी को 60 सदस्यीय राज्य विधानसभा के लिए 40:20 सीटों के बंटवारे के फॉर्मूले के साथ चुनाव लड़ा और लगातार दूसरी बार सत्ता में लौटने के लिए क्रमशः 25 और 12 निर्वाचन क्षेत्रों में जीत हासिल की. हालांकि अभी तक गठबंधन में से किसी ने भी नई सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है, लेकिन भाजपा ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि एनडीपीपी अध्यक्ष नेफ्यू रियो मुख्यमंत्री बने रहेंगे.

इससे पहले के चुनावों में क्या रहा था नतीजा?
बता दें कि इससे पहले साल 2018 के चुनाव में एनडीपीपी और बीजेपी ने इसी फॉर्मूले पर विधानसभा में चुनाव लड़ा था और क्रमश: 18 और 12 सीटों पर जीत हासिल की थी.

नगालैंड के नतीजे इसलिए भी अहम
गौरतलब है कि नगालैंड में गुरुवार को विधानसभा चुनाव के परिणाम जारी हुए थे. इस चुनाव में यहां की जनता ने पहली बार दो महिला उम्मीदवारों को चुनकर इतिहास रच दिया. बीजेपी की सहयोगी एनडीपीपी (सत्तारूढ़ नेशनलिस्ट डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी) की उम्मीदवार हेकानी जखालु ने दीमापुर-तृतीय सीट तो सलहौतुओनुओ क्रूस ने पश्चिमी अंगामी सीट पर बाजी मार ली यानी अब नगालैंड में दो महिला विधायक हो गईं. इस बार विधानसभा चुनाव में 183 उम्मीदवार मैदान में थे

About bheldn

Check Also

लोकसभा चुनाव से पहले मायावती को बड़ा झटका, BSP छोड़ने की तैयारी में सभी 10 सांसद?

लखनऊ: लोकसभा चुनाव से पहले देश के सबसे बड़े सियासी सूबे उत्तर प्रदेश में पूर्व …