राघव चड्ढा तक पहुंची शराब घोटाले की आंच, ईडी की सप्लीमेंट्री चार्जशीट में खुलासा

नई दिल्ली

दिल्ली शराब घोटाला मामले में आम आदमी पार्टी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। मनीष सिसोदिया के बाद अब आप के राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा का भी नाम सामने आया है। ईडी की दूसरी सप्लीमेंट्री चार्जशीट में राघव चड्ढा का नाम है।

ईडी की दूसरी सप्लीमेंट्री चार्जशीट में कहा गया कि जाली लेनदेन की साजिश रची गई। मनीष सिसोदिया के पूर्व सचिव सी अरविंद ने जांच एजेंसी को बताया था कि मनीष सिसोदिया के घर पर हुई बैठक में राघव चड्ढा मौजूद थे। सी अरविंद के बयान के अनुसार, बैठक में पंजाब के आबकारी आयुक्त वरुण रूजम, मामले के आरोपी विजय नायर और पंजाब आबकारी निदेशालय के अन्य अधिकारी भी शामिल थे।

दिल्ली सरकार ने 17 नंवबर, 2021 को लागू की थी नई शराब नीति
दिल्ली शराब घोटाला मामले में पहले से ही दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री का नाम सामने आ चुका है। मनीष सिसोदिया जिस शराब घोटाले में बंद हैं, वो दिल्ली की नई शराब पॉलिसी से संबंधित है। दिल्ली सरकार ने 17 नंवबर, 2021 को नई शराब नीति लागू की थी, लेकिन उसके बाद सरकार ने अपनी इस पॉलिसी को वापस ले लिया था।

मनीष सिसोदिया पर कारोबारियों को अनुचित लाभ पहुंचाने का आरोप
केजरीवाल सरकार की नई शराब नीति लागू होने के बाद सरकार ने राजस्व में इजाफा और माफियाराज को खत्म करने की बात कही थी, लेकिन यह इसके ठीक उल्टा हुआ। दिल्ली सरकार को राजस्व का नुकसान हुआ। दिल्ली के तत्कालीन मुख्य सचिव ने जुलाई 2022 में दिल्ली के तत्कालीन मुख्य सचिव ने एलजी वीके सक्सेना को रिपोर्ट सौंपी थी, जिसमें मनीष सिसोदिया पर शराब कारोबारियों को अनुचित लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया गया था।

17 अगस्त, 2022 को सीबीआई ने इस मामले में केस दर्ज किया
दिल्ली के उपराज्यपाल ने इस मामले की जांच सीबीआई से कराने की सिफारिश की थी। 17 अगस्त 2022 को इस मामले में सीबीआीई ने केस दर्ज कर जांच शुरू की थी। इस मामले में मनीष सिसोदिया समेत 15 लोगों को आरोपी बनाया गया। इसी बीच इस केस में 22 अगस्त को ईडी की एंट्री होती है। ईडी ने आबकारी नीति में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था। जांच और पूछताछ के बाद करीब छह महीने बाद सीबीआई ने मनीष सिसोदिया को 26 फरवरी को गिरफ्तार कर लिया। इसी बीच मनीष सिसोदिया से जेल में ईडी ने पूछताछ शुरू की थी। ईडी ने पूछताछ के बाद जेल में ही मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार कर लिया। मनीष सिसोदिया ने पिछले महीने कोर्ट से जमानत मांगी थी। जिसको कोर्ट ने खारिज कर दिया।

 

 

About bheldn

Check Also

प्राइवेट प्रॉपर्टी पर हो सकता है किसी समुदाय या संगठन का हक, सुप्रीम कोर्ट के 9 जजों की बेंच ने क्या कहा?

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज कहा कि संविधान का उद्देश्य सामाजिक बदलाव की भावना …