मणिपुर में फंसे यूपी के 60 स्टूडेंट्स, योगी सरकार से अपील- हमें बाहर निकालो

इंफाल

नॉर्थ ईस्ट राज्य मणिपुर की इंफाल घाटी में तनाव बना हुआ है। मणिपुर हिंसा के बीच यूपी के करीब 60 छात्र-छात्राएं फंसे। एनआईटी इंफाल में पढ़ते हैं बच्चे। वाराणसी और गोरखपुर समेत पूर्वी उत्तर प्रदेश के हैं छात्र। करीब बीस छात्राएं है इनके बीच फंसी हुई हैं। एक वक्त का खाना मिल रहा मुश्किल से। यूपी की योगी सरकार से निकलने को लगाया गुहार। कैंपस के बाहर लगातार हो रही है गोलाबारी।

एनआईटी में पढ़ने वाले प्रदुम्मना कुमार कुमार ने बताया कि 3 मई से यहां लगातार हिंसा हो रही है।छात्र ने बताया कि इसके बाद से ही उन्हें हॉस्टल में मात्र एक वक्त का खाना दिया जा रहा है पीने के लिए एक बोतल पानी मिलता है। लगातार दूरदराज इलाकों से गोलीबारी और धुएं की गुबार उड़ता हुआ दिख रहा है। वहीं कल ही नीट का एग्जाम भी कैंसिल हुआ है।

हॉस्टल वार्डन की तरफ से हम लोगों को रात में दरवाजे खिड़की बंद करके रहने को कहा जाता है। अन्य राज्यों के छात्र अपने-अपने घरों को चले गए हैं, लेकिन अभी तक हम लोगों के निकलने का कोई प्रबंध नहीं हो पाया है करीब 50 से 60 छात्र-छात्राएं हम लोग हैं। जिनमें से 20 लड़कियां हैं।

राज्य में शांति स्थापित करने के लिए चप्पे चप्पे पर सुरक्षा बलों की तैनाती की जा रही है। मणिपुर में एयर रूट और सड़क मार्ग से सुरक्षा बलों को भेजा जा रहा है। इंफाल में तो हालात कंट्रोल में है लेकिन घाटी के आसपास के पहाड़ी इलाकों में सुरक्षा बलों और उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ की खबरें सामने आ रही हैं।

बुधवार को आदिवासी समुदाय के मार्च के दौरान वहां हिंसा भड़क गई थी। इसके बाद से ही बहुसंख्यक मैतेई समुदाय और आदिवासी कुकी समुदाय के बीच तनाव बना हुआ है। सरकार ने गंभीर स्थिति में देखते ही गोली मारने के आदेश दिए थे। राज्य के आठ जिलों में कर्फ्यू है। साथ ही मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित हैं।

About bheldn

Check Also

1 करोड़ नौकरियां और 2024 के लिए 24 वचन, RJD के ‘परिवर्तन पत्र’ में तेजस्वी ने किए ये वादे

पटना, देश में हो रहे लोकसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग से 6 दिन …