बेटे के हाथ में थमाई बंदूक, आंखों के सामने चलवाई गोली… मुरैना कांड की ‘पुष्पा’ गिरफ्तार

मुरैना

कहते हैं कि पूत कपूत हो सकता है लेकिन माता कुमाता नहीं हो सकती है। मां अपने बच्चे को हमेशा सदमार्ग पर चलने की शिक्षा देती है और उसका भविष्य संवारती है। चंबल के मुरैना जिले के लेपा गांव की एक मां ने अपने बेटे का भविष्य सुधारने की बजाए उसे कातिल बना दिया। इस महिला ने अपने पति की हत्या का बदला लेने के लिए अपने बेटे के हाथों में बंदूक थमा दी। एक-एक करके अपने बेटे के हाथों से 6 लोगों की हत्या करवा दी। अब इस महिला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

दरअसल, मुरैना जिले के लेपा गांव में दो दिन पहले जघन्य हत्याकांड हुआ था। लेपा गांव में 8 लोगों को गोली मार दी गई थी। इस वारदात में तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई थी और 3 महिलाओं ने जिला अस्पताल पहुंचकर दम तोड़ दिया था। वारदात के पीछे की वजह पुरानी रंजिश बताई गई थी और पुरानी रंजिश के चलते ही छह लोगों की हत्या कर दी गई थी।

2013 में हुए थे दो कत्ल
साल 2013 में लेपा गांव में कचरा डालने को लेकर गजेंद्र सिंह और धीर सिंह के परिवार के बीच विवाद हुआ था। इस विवाद के दौरान वीरभान और सोवरन नाम के दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद गजेंद्र सिंह का परिवार गांव छोड़कर चला गया था। 10 साल बाद जब यह परिवार धीर सिंह के परिवार से समझौता हो जाने के बाद अपने गांव लौटा। यहां पर धीर सिंह के परिवार वालों ने 8 लोगों को गोली मार दी, जिनमें से 6 लोगों की मौत हो गई।

वीरभान की पत्नी ने अपने बेटे के हाथ में दी बंदूक
लेपा गांव में हुए हत्याकांड का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ। यह वीडियो गजेंद्र सिंह के परिवार की ही रंजना नाम की लड़की ने अपने मोबाइल से बनाया था। इस वीडियो में दिखाई दे रहा कि एक लड़का एक महिला के कहने पर एक-एक करके लोगों को गोली मारता जा रहा है। गोली मारने वाले लड़के का नाम अजीत है और हरी साड़ी पहनकर जो महिला गोली मारने के लिए अजीत को कह रही थी कि वह अजीत की मां पुष्पा देवी है। पुष्पा देवी के पति वीरभान का कत्ल 2013 में हुआ था और अपने पति की हत्या का बदला लेने के लिए पुष्पा देवी ने अपने बेटे अजीत के हाथों में बंदूक थमा दी।

बेटे को बताया किसे मारनी है गोली
पति की हत्या के प्रतिशोध की आग में जल रही पुष्पा देवी ने अपने ही बेटे को कातिल बना दिया। पुष्पा देवी ने अपने बेटे अजीत के हाथों में बंदूक थमा दी। उसके साथ खड़े होकर अपने बेटे अजीत को एक-एक करके बताया कि किस किस को गोली मारना है। अजीत गोली चला रहा था और पुष्पा देवी कारतूस बटोर रही थी। इसके साथ ही पुष्पा देवी अपने बेटे को कारतूस भी दे रही थी। निडर होकर दबंगई भरे अंदाज में पुष्पा देवी ने अपने बेटे अजीत के हाथों अपने दुश्मनों पर गोली चलवाई।

पुष्पा देवी को पुलिस ने किया गिरफ्तार
अपने बेटे के हाथों छह लोगों का कत्ल करवाने के बाद पुष्पा देवी फरार हो गई थी। इस घटना के बाद पुलिस ने फरार सभी आरोपियों पर 10-10 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया था। पुलिस ने धीर सिंह और रज्जो देवी नाम के दो आरोपियों को तो पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। अब पुलिस ने पुष्पा देवी को भी गिरफ्तार कर लिया है।

About bheldn

Check Also

संवैधानिक पद पर बैठे नरेन्द्र सिंह तोमर कर रहे हैं भाजपा का चुनाव प्रचार

– कांग्रेस ने चुनाव आयोग से आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत कर कार्यवाही की …