4000 बुलडोजर लेकर जंतर-मंतर जाएंगे, ‘पहलवानों पर राजनीति’ के खिलाफ किसने खोला मोर्चा

गोंडा

यौन शोषण के आरोपों से घिरे WFI अध्यक्ष और बीजेपी सांसद बृजभूषण सिंह के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रिपोर्ट दर्ज होने के बाद भी पहलवानों का धरना खत्म नहीं हो रहा है। पहलवान अब बीजेपी सांसद की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। इसी बीच सुप्रीम कोर्ट से पहलवानों को एक झटका भी लग चुका है। अब पहलवानों के धरने को किसान नेता राकेश टिकैत और खाप पंचायतों के समर्थन देने को लेकर क्षत्रिय युवा वाहिनी में काफी आक्रोश व्याप्त है। उनका कहना है कि पहलवान अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे थे। पूरे मामले की दिल्ली पुलिस जांच कर रही है। अब तक हम लोग चुप थे। अब जब पहलवानों का धरना राजनीति से प्रेरित होकर अखाड़ा बनता जा रहा है। ऐसे में अब क्षत्रिय युवा वाहिनी चुप नहीं रहेगी। युवा वाहिनी के पदाधिकारियों का आरोप है कि इस धरने को अब देश विरोधी ताकतें भी समर्थन देने लगी हैं। टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोग धरना का समर्थन कर रहे हैं।

क्षत्रिय युवा वाहिनी के 4 हजार कार्यकर्ता बुलडोजर लेकर दिल्ली जाएंगे। मीडिया से बातचीत करते हुए क्षत्रिय युवा वाहिनी के राष्ट्रीय संयोजक ने कहा कि आज बैठक कर रणनीति तय की गई है। खाप पंचायत और राकेश टिकैत के विरोध में क्षत्रिय युवा वाहिनी के 4 हजार कार्यकर्ता अब बुलडोजर लेकर दिल्ली जाएंगे। क्षत्रिय युवा वाहिनी के पदाधिकारी स्वतंत्र सिंह ने कहा कि अभी तक जब मामला पहलवान और फेडरेशन के बीच में था। हम लोग चुपचाप बैठे थे। उन्होंने कहा कि दिल्ली जंतर-मंतर पर जिस तरह से खाप पंचायत और टुकड़े-टुकड़े गैंग के लोग आकर प्रदर्शन कर रहे हैं। हम लोगों ने भी तय किया है कि नेता बृजभूषण सिंह के समर्थन में दिल्ली कूच करेंगे। इसके लिए रणनीति बनाई जा रही है।

खाप पंचायत उड़ जाएगी
दिल्ली के आस-पास ठाकुरों के 200 गांव, 10 प्रतिशत लोग भी पहुंच गए तो खाप पंचायत उड़ जाएगी। क्षत्रिय युवा वाहिनी के राष्ट्रीय संयोजक अमित सिंह ने कहा कि महाराणा प्रताप की जयंती पर क्षत्रिय युवा वाहिनी ने महापंचायत का आयोजन किया था। बैठक में नेताजी का जो प्रकरण चल रहा है, उस पर चर्चा की गई। बैठक में 50 से ज्यादा गांव के प्रधान और जिला पंचायत सदस्य भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि अनावश्यक रूप से खाप पंचायत और टुकड़े-टुकड़े लॉबी जांच पर दबाव बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के 200 किलोमीटर की परिधि में दो हजार से ज्यादा ठाकुरों के गांव हैं। अगर उसमें से 10 प्रतिशत लोग भी दिल्ली के जंतर मंतर पहुंच जाएंगे तो खाप पंचायत वहां से उड़ जाएगी।

About bheldn

Check Also

विजयन के टारगेट करने पर कांग्रेस ने साफ किया CAA पर स्टैंड, चिदंबरम ने बताया सरकार बनने पर क्या करेंगे

तिरुवनंतपुरम कांग्रेस की अगुवाई वाली I.N.D.I.A अलायंस अगर सत्ता में आया तो पार्टी सीएए को …