मुख्यमंत्री के मंच की तरफ पिता ने फेंका अपना मासूम बेटा, सभा में मच गया हड़कंप

सागर ,

मध्य प्रदेश सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान रविवार को कुशवाहा समाज के सम्मेलन में शामिल होने के लिए सागर पहुंचे थे. इस दौरान भीड़ में खड़े एक शख्स ने अपने मासूम बच्चे को मंच की तरफ फेंक दिया. बच्चा कुछ ही दूरी पर जा गिरा. इससे सभा में हड़कंप मच गया. हालांकि, तुरंत ही मौके पर मौजूद सुरक्षाकर्मी ने रोते हुए मासूम को उठाकर उसकी मां को सौंप दिया.

मां ने बच्चे को सुरक्षाकर्मी के हाथ से लेकर अपने सीने से लगा लिया. यह देख मंच पर खड़े मुख्यमंत्री ने तत्काल ही अधिकारियों को उस महिला की पीड़ा सुनने के निर्देश दिए. मुख्यमंत्री को बताया गया कि बच्चे के दिल में छेद है और ऑपरेशन के लिए आर्थिक मदद की जरूरत है.

CM शिवराज ने पीड़ित बच्चे के माता-पिता को आश्वस्त किया कि आपकी हर संभव मदद की जाएगी. प्रदेश के मुखिया ने पास ही मौजूद कलेक्टर दीपक आर्य को फरियादी के मामले को सीएम हाउस भेजने के निर्देश दिए.

दरअसल, पेशे से मजूदर मुकेश पटेल सागर की केसली तहसील के सहजपुर गांव का निवासी है. वह अपनी पत्नी नेहा पटेल और मासूम बच्चे के साथ मुख्यमंत्री के पास मदद मांगने पहुंचा था. जब मुकेश को सीएम शिवराज के पास नहीं जाने दिया गया तो उसने बच्चे को मंच के सामने लगे बेरिकेड्स के भीतर फेंक दिया. उस समय सीएम शिवराज भी मंच पर ही थे. जैसे ही उन्होंने यह नजारा देखा तो तत्काल ही अधिकारियों को दंपती की बात सुनने को कहा.

सागर में मुख्यमंत्री के इसी सभास्थल पर मचा था हड़कंप.
पीड़ित परिवार ने बताया, उनके बेटे के दिल में छेद है. जब वह 3 महीने का था तब इसका पता चला था. अब 1 साल का हो गया है. उसके इलाज में करीब 4 लाख रुपये खर्च कर चुके हैं. अब डॉक्टर ने ऑपरेशन करवाने की सलाह दी है. इसमें 3.50 लाख रुपये का खर्च आएगा. इतनी रकम जुटाना हमारे लिए संभव नहीं है. हम यह सोच रहे हैं कि हमारे बच्चे का ऑपरेशन हो जाए. कोई हमारी मदद नहीं कर रहा. हमें मुख्यमंत्री से भी मिलने नहीं दे रहे थे. पुलिसवाले इधर से उधर भेजकर परेशान कर रहे थे. इसलिए बच्चे को मंच की तरफ फेंक दिया था. अब मुख्मंत्री के कहने पर अधिकारियों ने बुलाया तो कहा कि कल फिर से आना तब आपकी बात सुनेंगे. देखें

 

About bheldn

Check Also

एमपी बोर्ड रिजल्ट घोष‍ित, 10वीं में अनुष्का, 12वीं में जयंत-अंश‍िका-मुस्कान बनीं टॉपर

नई दिल्ली , छात्रों का लंबा इंतजार अब खत्म हो चुका है. आज 24 अप्रैल …