शाहरुख के बेटे आर्यन कभी नहीं भूलेंगे यह सेल्फी! जानें कैसे इस एक फोटो ने ड्रग्स केस में उन्हें बचा लिया

क्रूज ड्रग मामले में बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को नहीं फंसाने के एवज़ में 25 करोड़ रुपये की रिश्वत मांगने के आरोप में नारकोटिक्स एनसीबी के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है, लेकिन आप जानते हैं अगर वो सेल्फी न होती तो ये सच कभी सामने नहीं आ पता। शाहरुख के बेटे आर्यन की एक सेल्फी ने इस केस पूरी तरह से बदल कर रख दिया। सिर्फ एक सेल्फी की वजह से आर्यन को ड्रग केस से राहत मिल गई और अब इसी सेल्फी ने समीर वानखेड़े के खिलाफ सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की है।

शाहरुख के बेटे की सेल्फी का कमाल देखिए!
ये सेल्फी थी पी. गोसावी के साथ। आर्यन के साथ पी गोसावी ने नार्कोटिक्स कंट्रोल बोर्ड के ऑफिस में एक सेल्फी ली थी। ये सेल्फी अक्टूबर 2021 में सामने आयी थी। एनसीपी के नेता नवाब मलिक ने इस सेल्फी को लेकर सबसे पहले सवाल उठाए थे और ये पूछा था कि पी गोसावी एनसीबी में नहीं है बावजूद इसके वो कैसे एनसीबी की ऑफिस के अंदर आरोपी के साथ सेल्फी खिंचवा रहे हैं। इस सेल्फी के बाद ही केस ने एक दूसरा टर्न ले लिया।

आर्यन खान की सेल्फी ने बदला क्रूज ड्रग केस
दरअसल एनसीबी ने पी गोसावी और उसके एक साथी सांविल डिसूजा को एसे दिखाया जैसे वो एनसीबी में ही हो जबकि असल में ये दोनों वहां मौजूद घटना के स्वतंत्र गवाह थे। पी गोसावी की कार में ही आर्यन और दूसरे आरोपियों को लाया गया। इन्हें एनसीबी के दफ्तर में आने-जाने की पूरी छूट थी। ये आर्यन के साथ बाते कर रहे थे, उनके साथ फोटो खिंचवा रहे थे।

आर्यन को छुड़ाने के लिए मांगे थे 25 करोड़
इस मामले में जब जांच शुरू हुई तो पता चला कि पी गोसावी एनसीबी के लिए शाहरुख के साथ 25 करोड़ की डील करवा रहा था। बेटे आर्यन को छुड़ाने के एवज में शाहरुख खान से 25 करोड़ की मांग हुई थी। इस मामले के सामने आने के बाद एनसीबी की विजिलेंस टीम जांच कर रही थी और चार दिन पहले यानी 11 मई को सीबीआई को उसने अपनी रिपोर्ट सौंपी थी। इसके बाद अगले दिन 12 मई को समीर वानखेड़े के खिलाफ एफआईआर फाइल की गई।

About bheldn

Check Also

मुझे पता था, हमारे वीडियो से बहुत सारे लोगों को मिर्ची लगेगी….’, बोले मुकेश साहनी

पटना, उधमपुर रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेजस्वी और मुकेश साहनी की वीडियो पर …