सुसाइड का फैसला, इंस्टाग्राम पर वीडियो अपलोड होते ही फेसबुक से मैसेज, ऐसे बची जान

सिंगरौली

राज्य साइबर सेल ने रविवार को सिंगरौली जिले की रहने वाली एक नर्सिंग छात्रा को खुदकुशी करने से बचा लिया। साइबर सेल के पास सीधे अमेरिका से मेटा फेसबुक के अधिकारियों ने छात्रा के बारे में सूचना दी थी। जानकारी मिलते ही छात्रा की पहचान कर सिंगरौली की बैढ़न पुलिस को सक्रिय किया गया था। पुलिस ने युवती के घर पहुंचकर उसे जान देने से बचा लिया। पुलिस ने यह भी बताया कि युवती ने इंस्टाग्राम पर अपनी आत्महत्या की कोशिश का वीडियो क्यों अपलोड किया था।

राज्य साइबर सेल के एडीजी योगेश देशमुख ने बताया कि रविवार को मेटा (फेसबुक) से सूचना मिली कि मध्यप्रदेश की एक युवती ने इंस्टाग्राम पर आत्मदाह करने की पोस्ट अपलोड की है। जानकारी मिलने पर राज्य साइबर सेल की टीम ने युवती का पता मालूम किया तो आईपी एट्रेस से पता चला कि वह सिंगरौली जिले की रहने वाली है। इसके बाद सिंगरौली के एसपी यूसुफ कुरैशी को इसकी जानकारी दी गई। सिंगरौली पुलिस युवती के घर पहुंची तो वह मिल गई। पुलिस ने युवती के स्वजनों को पूरा घटनाक्रम बताया और छात्रा की काउंसलिंग कराई गई। इस तरह राज्य साइबर सेल की सक्रियता से युवती की जान बच गई।

युवती अपनी मौसी के पास रहकर कॉलेज की पढ़ाई कर रही है। उसकी अपने माता-पिता से नियमित बातचीत होती है। युवती माता- पिता के पास जाना चाहती थी। माता-पिता ने उसे घर आने से मना कर दिया। युवती को यह अच्छा नहीं लगा। गुस्से में आकर उसने आत्महत्या करने का वीडियो इंस्टाग्राम पर अपलोड कर दिया। वीडियो में युवती आत्महत्या करने का प्रयास कर रही थी। इसके बाद पुलिस हरकत में आ गई और एक जान को बचा लिया।

सिंगरौली के एएसपी शिव कुमार वर्मा ने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस सक्रिय हो गई। युवती के घर पहुंचकर परिजनों को पूरा मामला बताया। उसे समझाइश देने के बाद माता-पिता के साथ घर भेज दिया गया है।

About bheldn

Check Also

घर में पत्नी ने की खुदकुशी तो अस्पताल में फांसी के फंदे से झूलती मिली पति की लाश

कोच्चि, केरल के कोच्चि में पत्नी की मौत के बाद एक शख्स निजी अस्पताल में …