राजस्थान: कॉलेज जाती लड़की को 10 लड़कों ने घेरा, सरेआम मारपीट, गैंगरेप की कोशिश

दौसा

दौसा में दिनदहाड़े एक गर्ल स्टूडेंट के साथ 10 अन्य स्टूडेंट्स ने छेड़छाड़ और दुष्कर्म का प्रयास किया।यह मामला अब सोशल मीडिया पर छाया हुआ है। आज ट्विटर पर पूरे देश में दौसा कांड के नाम से यह घटनाक्रम ट्रेंड कर रहा है। ट्विटर पर इस घटनाक्रम की जमकर आलोचना की जा रही है ।

क्या है ‘दौसा कांड’
17 मई को दौसा आईटीआई कॉलेज की एक गर्ल स्टूडेंट अपने क्लासमेट के साथ कॉलेज जा रही थी। कॉलेज के रास्ते करीब 10 युवकों ने उन्हें बीच रास्ते में रोक लिया। गर्ल स्टूडेंट को जबरन रोकते हुए उसके साथ मारपीट की। जमीन पर गिरा कर रेप की कोशिश की गई। पीड़िता के अनुसार बदमाशों ने उसके साथ मारपीट के समय कहा कि पहले तो छेड़छाड़ ही करते थे अब बच्चा पैदा करेंगे। इस पूरे घटनाक्रम के बाद समूचे दोसा में हड़कंप मचा हुआ है। पूरे मामले में जमकर राजनीति हो रही है। बीजेपी ने महिला सुरक्षा को लेकर सरकार को आड़े हाथों लिया है। पार्टी के नेताओं ने राजस्थान में जंगल राज की बात कही है।

मंत्री और विधायक मीणा क्या बोले
इस ‘दौसा कांड’ पर कांग्रेस के मंत्री और दौसा से स्थानीय विधायक मुरारी लाल मीणा का बयान भी सामने आया है। उनका कहना है कि आरोपी किसी भी समुदाय से हो, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। इसके लिए उन्होंने एसपी से भी बात कर ली है। जल्द ही सारे आरोपी गिरफ्तार होंगे। उन्होंने कहा कि पूरा घटनाक्रम निंदनीय है और इस घटनाक्रम में कई समाजों के अलग-अलग छात्र शामिल हैं।

अब तक पुलिस ने क्या किया?
दौसा पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी सहित कुल 2 स्टूडेंट्स को पकड़ा है। इनमें एक नाबालिग भी है। अभी भी इस मामले में करीब 7 से 8 अन्य छात्र फरार चल रहे हैं। इस मामले में पूर्व विधायक शंकर शर्मा ने कहा कि दौसा में गर्ल स्टूडेंट के साथ हुई घटना निंदनीय है। कांग्रेस के शासनकाल में पूरे राजस्थान में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। दिनदहाड़े कॉलेज जा रही गर्ल स्टूडेंट के साथ रेप का प्रयास किया जाता है। इस घटना ने देवनगरी दोसा को शर्मसार किया है।

सांसद ने सरकार को बताया जिम्मेदार
बीजेपी सांसद जसकौर मीणा ने इस ‘दौसा कांड’ पर सरकार को घेरा है। उन्होंने कहा कि राजस्थान राज्य महिला अपराध का केंद्र बन गया है। महिला अपराध में सबसे ऊपर राजस्थान का नाम आ रहा है। दौसा संसदीय क्षेत्र में हुई घटना ने झकझोर के रख दिया है इस तरह के माहौल के लिए राजस्थान की सरकार जिम्मेदार है। वहीं इस पूरे मामले में कांग्रेस, भाजपा और ब्राह्मण समाज के साथ विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि कलेक्टर कमर चौधरी और एसपी संजीव जैन से मुलाकात करने पहुंचे है।

About bheldn

Check Also

कांवड़ यात्रा: मजहब देख कर सामान खरीदने की वकालत करने वालों को हरिद्वार से आया यह वीडियो जरूर देखना चाहिए

हरिद्वार, कांवड़ यात्रा के रूट पर पड़ने वाले दुकानदारों को अपनी नेमप्लेट लगाने के यूपी …