नहीं मिली 1 करोड़ की फिरौती तो भेजी युवक की लाश, दोस्त ने रची मर्डर की साजिश !

जयपुर

राजधानी जयपुर में हत्या का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। बुधवार 24 मई की देर रात को सांगानेर थाना इलाके में द्रव्यवती नदी में पुलिस को एक युवक की लाश मिली है। मृतक युवक की पहचान हनुमान मीणा के रूप में हुई है। हनुमान जयपुर के सांगानेर इलाके में अपने परिवार के साथ रहता था। 22 मई को उसका अपहरण हुआ था। परिजनों ने पुलिस थाने में गुमशुदगी रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी। इधर पुलिस अपहरण करने वालों की तलाश कर रही थी। उधर अपहरणकर्ताओं ने युवक की हत्या करके शव को बोरे में बांध कर नदी में फेंक दिया। पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में लिया है और हत्यारों का पता लगाने में जुटी है। पुलिस जांच में सामने आया है कि किडनैपर में शामिल एक युवक मृतक का दोस्त ही था।

पिता से मांगी थी एक करोड़ रुपए की फिरौती
मृतक हनुमान मीणा सरस डेयरी में काम करता था। 22 मई को ऑफिस जाने के दौरान उसका अपहरण कर लिया गया। 22 मई की देर रात को अपहरणकर्ताओं ने हनुमान के मोबाइल से उसके पिता को मैसेज किया और बताया कि उनका बेटा हमारे कब्जे में है। आरोपियों ने हनुमान के पिता से 1 करोड़ रुपए की फिरौती मांगी। फिरौती की रकम देने के लिए 25 मई तक का समय दिया गया था। अपहरणकर्ताओं ने धमकी दी कि अगर पुलिस को इस बारे में सूचना दी तो वे हनुमान की हत्या कर देंगे। यही हुआ। फिरौती की रकम का इंतजाम नहीं करने और अपने बेटे को बचाने के लिए पिता ने पुलिस की शरण ली थी तो आरोपियों ने हनुमान मीणा की हत्या कर दी।

पिता को भेजा बेटे का वीडियो
अपहरणकर्ताओं ने हनुमान का अपरहण करने के बाद उसके साथ मारपीट और बंधक बना लिया। उसके बंधक बनाए हुए का वीडियो बनाकर हनुमान के पिता को भेजा और कहा कि तुम्हारा बेटा हमारे कब्जे में है। सलामती चाहते हो तो एक खोखे का इंतजाम कर दो। जो वीडियो हनुमान के पिता को भेजा गया था। उसमें हनुमान के हाथ पैर रस्सी से बंधे हुए थे। वाट्सअप कॉल करके आरोपियों ने एक करोड़ रुपए की फिरौती मांगी थी।

हाथ-पैर बांधे हुए और मुंह पर टेप चिपकाई हुई लाश मिली
सांगानेर इलाके में बुधवार देर रात को पुलिस को एक बोरे में लाश मिली थी। यह बोरा द्रव्यवती नदी में फैंका हुआ था। पुलिस ने जब बोरे को खोलकर देखा तो उसमें हनुमान का शव मिला था। हनुमान के हाथ पैर रस्सी से बांधे हुए थे और मुंह पर टेप चिपकाई हुई थी। शव को सवाई मानसिंह अस्पताल के मुर्दाघर में रखवा दिया गया है। पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया है। सांगानेर पुलिस के मुताबिक दो संदिग्ध युवकों को हिरासत में लिया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने जल्द ही हत्यारों को गिरफ्तार करने की बात कही है।

About bheldn

Check Also

असम की जेल में कैद खालिस्तानी अमृतपाल सिंह लड़ेगा लोकसभा चुनाव, जानें पंजाब की किस सीट से भरेगा पर्चा

चंडीगढ़ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत असम की जेल में बंद कट्टरपंथी सिख उपदेशक अमृतपाल …