उत्तर प्रदेश : हमीरपुर में दो पक्षों में विवाद, पुलिस ने दो साल के मासूम को बना दिया आरोपी

हमीरपुर

उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में दो पक्षों में हुए झगड़े को लेकर पुलिस ने दो साल के मासूम के खिलाफ ही एफआईआर दर्ज कर डाली। उच्चाधिकारियों से शिकायत के बाद अब यह मामला सामने आया है। मासूम बच्चा अभी ठीक से बोल भी नहीं पाता और ऐसे में उसे भी मारपीट का मुल्जिम बनाए जाने से आम लोग भी दंग हैं। यह मामला हमीरपुर जिले के कुरारा थाने का है। जहां की पुलिस ने बिना जांच किए ही दोनों पक्षों के खिलाफ क्रास केस दर्ज किया और इसमें एक दो साल के बच्चे को भी आरोपी बना डाला।

कुरारा थाना क्षेत्र के भौली गांव के दयाशंकर श्रीवास ने बताया कि पिछले माह थाने में तैनात होमगार्ड नरेन्द्र तिवारी से झगड़ा हो गया था। इसने अपने परिवार के लोगों के साथ उसे पीटा और बच्चों के साथ ही बहू से भी मारपीट की। घटना की तहरीर थाने में दी गई थी। जिस पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ गाली गलौज, मारपीट और एससी, एसटी ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। बताया कि घटना की रात में ही होमगार्ड के जवान की पत्नी ने थाने में झूठी तहरीर दी। जिस पर पुलिस ने बिना जांच कराए ही उनके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। इसी मुकदमे में दो साल के नाती पर भी केस दर्ज किया गया। यह मामला एसपी के यहां पहुंचा। जिस पर कार्रवाई के निर्देश कुरारा थाने की पुलिस को दिए गए हैं।

एफआईआर की नकल देखते ही परिजनों के उड़े होश
पीड़ित दयाशंकर ने बताया कि घटना के कई दिन बाद थाने से एफआईआर की नकल ली गई। जिस पर दो साल का मासूम नाती नामजद किया गया है। अब इस मामले को लेकर शिकायत एसपी से की गई है। इधर, कुरारा थाने के प्रभारी निरीक्षक श्रीप्रकाश यादव ने शनिवार को बताया कि दो पक्षों के बीच झगड़ा हुआ था। जिस पर दोनों पक्षों की तहरीर पर मुकदमा लिखा गया था। बताया कि दो साल के बच्चे का नाम एफआईआर में आया है। जिसकी जांच कर उसका नाम मुकदमे से हटवाया जा रहा है।

About bheldn

Check Also

क्या TRP ‘गेम जोन’ पर मेहरबान थे अफसर? BJP नेता वजुभाई वाला ने बताया क्यों हुआ हादसा?

अहमदाबाद गुजरात के राजकोट अग्निकांड को लेकर बीजेपी के दिग्गज नेता और कर्नाटक के राज्यपाल …