छत्तीसगढ़: 24 घंटे में दो कांग्रेस विधायकों के विवादित वीडियो वायरल, MLA रामकुमार यादव बोले- 5 साल पुराना है

रायपुर ,

चुनावी मौसम में पैसों की बौछार के साथ अक्सर विधायक या राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों के वीडियो वायरल होना एक आम बात हो गई है. किसी की छवि को धूमिल करने के लिए भी यह वक्त बड़ा संवेदनशील और प्रभावशाली माना जाता है. किसी की छवि बनती है तो किसी की ऐसी बिगड़ती है कि वह सत्ता से हमेशा हमेशा के लिए एग्जिट हो जाते हैं. और ये वीडियोज कोई और नहीं, बल्कि अक्सर बेहद करीबी लोग ही बनाकर अपना हिडन एजेंडा पूरा कर लेते हैं.

छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटे में दो विधायकों के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. एक वीडियो चंद्रपुर के कांग्रेस विधायक राम कुमार यादव का है जिसमें वह अच्छे खासे पैसे के ढेर के पास बैठे दिखे. उनके पास 500 और ₹200 के बहुत सारे नोटों की गड्डियां पड़ी हैं और चार लोगों की मौजुदगी में कुछ बातें चल रही हैं जो इतनी क्लियर नहीं है. यह वीडियो जब भारतीय जनता पार्टी की तरफ से ट्वीट किया गया तब राजनीतिक गलियारों में तहलका मच गया.

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अजय चंद्राकर से जब aajtak ने बात की. उन्होंने कांग्रेस सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि जब पूरी गंगा ही पवित्र है तो उसकी सहायक नदियां पवित्र होंगी हीं. वे ये भी कह गए आने वाले दिनों में और भी धमाकेदार वीडियो बाहर आएंगे.

हमने रामकुमार यादव से भी उनका स्पष्टीकरण मांगा था तब उनका यह कहना था कि वीडियो में वह किसी लेन-देन की बात करते हुए नज़र नहीं आ रहे हैं और यह वीडियो 4-5 साल पुराना है. उन्होंने यह भी कहा कि वीडियो में दिख रहे पैसे उनके नहीं थे और न ही वे वीडियो में पैसों की तरफ देखते हुए नजर आ रहे. यह वीडियो उनकी छवि को धूमिल करने के लिए उनके विरोधियों ने मौका देख वायरल किया है. उनकी छवि बेहद साफ है और इसीलिए विरोधियों को ऐसी गंदी राजनीति करने की जरूरत पड़ रही है.

वहीं, पाली तानाखार विधानसभा सीट के विधायक मोहित राम केरकेट्टा का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें सफेद रंग की क्रिस्टल गाड़ी के अंदर बैठे किसी से पैसे की लेन-देन के बारे में बात कर रहे हैं. वीडियो में विशेष रूप से दिखाया जाता है कि किस तरह से वे कह रहे हैं- “काम पूरा नहीं हुआ, क्योंकि पैसे मेरे पास नहीं पहुंचे. हेलीकॉप्टर के सामने बैठे मिलूं तो हेलीकॉप्टर तो मेरा नहीं हो जाएगा न.”

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी रामकुमार यादव के समर्थन में उतरते नजर आए. CM ने कहा कि जब किसी ने आरोप नहीं लगाया है तो विवाद नहीं होना चाहिए. भारतीय जनता पार्टी के ओपी चौधरी फ्रस्ट्रेशन में लगातार ट्वीट कर रहे हैं. उनको आरोप पत्र के लॉन्च और अमित शाह के प्रवास के दौरान साइंस कॉलेज का ऑडिटोरियम भरने की जिम्मेदारी दी गई थी जो वह कर नहीं पाए. बस अब उस्की भरपाई करने की कोशिश की जा रही है.आंतरिक स्रोतों के बारे में ये जानकारी मिल रही है कि चंद्रपुर के विधायक रामकुमार यादव का वीडियो उनके साथ ही रहने वाले किसी करीब ने बनाया है. वह करीबी खुद इस बार चंद्रपुर से टिकट की अपेक्षा कर रहे हैं.

 

About bheldn

Check Also

‘गुनाह के तहत सजा मिलनी चाहिए’, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस वाले बाबा के खिलाफ कर दी एक्शन की मांग

लखनऊ उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने हाथरस हादसे (भोलेबाबा सत्संग) को लेकर बयान …