UP: पहली बार 1000 सेक्स वर्कर चुनेंगे अपना सांसद, गुप्त रखी जाएगी इनकी आइडेंटिटी

कानपुर,

चुनाव आयोग के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के कानपुर में पहली बार करीब 1 हजार सेक्स वर्कर्स को जिला प्रशासन ने मतदाता सूची में जोड़ा है. ये सेक्स वर्कर 2024 के लोकसभा चुनाव में पहली बार वोट डालेंगे. कानपुर के डीएम विशाख ने इन सेक्स वर्कर्स को मतदाता सूची में जोड़ने के लिए मार्जिनलाइज सेक्शन के तहत विशेष अभियान चलवाया है.

बता दें कि अभी तक छावनी विधानसभा, किदवई नगर विधानसभा के साथ-साथ महाराजपुर विधानसभा में सेक्स वर्कर्स को मतदाता सूची में जोड़ा गया है. छावनी विधानसभा से अब तक 545 सेक्स वर्कर्स के नाम जोड़े गए. वहीं, किदवई नगर से 345 सेक्स वर्कर्स ने अपना नाम मतदाता सूची में दर्ज कराया है. इसके अलावा महाराजपुर विधानसभा में अभी काम चल रहा है.

मतदान के लिए किया जाएगा जागरूक
कानपुर में निर्वाचन प्रक्रिया से जुड़े एडीएम राजेश कुमार का कहना है कि अभी हमारा अभियान चल रहा है. अभी और भी सेक्स वर्कर सामने आएंगे. उन सभी का नाम वोटिंग लिस्ट में जोड़कर उनको मतदान करने के लिए जागरूक किया जाएगा. यह प्रक्रिया चुनाव आयोग की मार्जिनलाइज सेक्शन के तहत की गई है. इसका आदेश 10 जनवरी 2022 को माननीय सुप्रीम कोर्ट ने दिया था.

गुप्त रहेगी सेक्स वर्कर्स की आइडेंटिटी
राजेश कुमार ने आगे बताया कि मार्जिनलाइज सेक्शन के तहत समाज के वो लोग, जिनको सामाजिक धारा से अलग रखा जाता है या किसी कारण से अलग पड़े रहते हैं और मतदान में हिस्सा नहीं लेते, उनको जोड़ना होता है. अभी तक कानपुर में 900 से ज्यादा सेक्स वर्कर्स मतदाता सूची में अपना नाम दर्ज करा चुके हैं. खास बात यह है कि इनकी आइडेंटिटी गुप्त रखी जाएगी.

About bheldn

Check Also

अब चाचा ने अजीत पवार गुट में लगाई सेंध? छगन भुजबल शरद पवार से मिलने पहुंचे

मुंबई, महाराष्ट्र सरकार के मंत्री छगन भुजबल की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (अजित पवार) से नाराजगी …