‘नारी शक्ति वंदन अधिनियम नारी के सामर्थ्य का सम्मान…’, अहमदाबाद में बोले पीएम मोदी

नई दिल्ली,

मध्य प्रदेश और राजस्थान के बाद अब पीएम मोदी गुजरात दौरे पर हैं. वह अहमदाबाद एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं और यहां से थोड़ी देर में खुली जीप से सभा स्थल पहुंच रहे हैं. अहमदाबाद हवाई अड्‌डे के पास गुजसेल की पार्किंग में नारी वंदन कार्यक्रम को पीएम मोदी संबोधित करेंगे. पीएम मोदी हवाई अड्‌डे से सीधे इसी कार्यक्रम में पहुंचे. इस कार्यक्रम के बाद वह राजभवन जाएंगे और वहां पर रात्रि विश्राम करेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का अहमदाबाद में सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के बाहर पार्टी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अहमदाबाद में नारी शक्ति वंदन-अभिनंदन कार्यक्रम स्थल पर लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया. उनके साथ सीएम भूपेन्द्र पटेल भी मौजूद हैं. कार्यक्रम में मुख्यमंत्री और भाजपा अध्यक्ष के अलावा पीएम मोदी के साथ मंच पर महिला शक्ति दिख रही हैं. मंच पर अहमदाबाद के सभी महिला विधायक, महिला मेयर, पूर्व महिला मेयर और जिला परिषद के महिला प्रमुख मौजूद हैं. भाजपा महिला मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष और शहर महिला मोर्चा के अध्यक्ष मौजूद हैं.पीएम मोदी ने नारी वंदन कार्यक्रम में कहा, आज मैं पूरे दिन युवाओं से जुड़े कार्यक्रम में मौजूद था. आप सबके चेहरे पर भी उत्साह और अलग खुशी देख पा रहा हूं जो कि स्वाभाविक है.

आपने जिस विश्वास के साथ अपने बेटे, इस भाई को दिल्ली भेजा, उस विश्वास को बढ़ाने वाला एक और काम आपके भाई ने दिल्ली में किया है. विधानसभा से लोकसभा तक महिलाओं का प्रतिनिधित्व बढ़े, ये मोदी की गारंटी है. ये सपना वर्षों पहले गुजरात की धरती पर हमने-आपने साथ में देखा था. हमने गुजरात में परिवार, समाज और स्टेट तीनों स्तर पर महिला सशक्तिकरण के कई कार्यक्रम चलाए. हमने ऐसी बहुत सी योजनाएं बनाईं.

गुजरात स्थानीय निकाय में महिलाओं की 50 फीसदी आरक्षण के बारे में सबको पता है. हमने तय किया था कि जिन पंचायतों में प्रधान के लिए महिला के लिए आरक्षण होगा, वहां महिलाएं जीतकर आएंगी तो वहां विकास के लिए अतिरिक्त बजट दिया जाएगा. बीजेपी ने एक जिम्मेदार राजनीतिक दल के तौर पर कई फैसले लिए. स्थानीय निकायों में चार प्रमुख पदों पर कम से कम एक महिला शामिल हो. जहां एससी हो वहां एससी या एसटी को प्रमुखता से यह पद मिले.

आज देश में घर से लेकर संसद तक जो फैसले हो रहे हैं, उनमें गुजरात के अनुभवों के बडी भूमिका है. गुजरात में पुलिस समेत सभी सरकारी भर्तियों में 33प्रतिशत आरक्षण है. डेयरी मे 35 लाख से ज्यादा महिलाएं भागीदारी. प्रदेश में महिला दूध सहकारी मंडली का गठन किया गया.
गुजरात में महिला आर्थिक विकास निगम की शुरुआत, मिशन मंगलम की शुरुआत, सखी मंडलों का गठन किया गया. गुजरात में एक समय माता मृत्युदर थी, जिसे चिरंजीवी योजना के जरिए कम किया गया.

About bheldn

Check Also

स्लॉटर हाउस में अमानवीय स्थिति, दबिश देकर पुलिस ने 57 नाबालिग बच्चों का किया रेस्क्यू

गाजियाबाद, उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद की क्राइम ब्रांच पुलिस और थाना मसूरी पुलिस की संयुक्त …