शुभमन गिल, श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव… नौसिखियों ने ऐसे डुबो दी फाइनल में भारतीय टीम की लुटिया

अहमदाबाद,

भारत की मेजबानी में खेला गया आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप 2023 खत्म हो गया है. टूर्नामेंट का फाइनल मुकाबला रविवार (19 नवंबर) को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला गया. इस मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम को 6 विकेट से करारी शिकस्त दी.

भारतीय टीम ने मैच में टॉस हारकर पहले बैटिंग करते हुए 240 रन बनाए थे. इसके जवाब में कंगारू टीम ने 43 ओवरों में ही 4 विकेट गंवाकर मैच और खिताब अपने नाम कर लिया. इस मैच के असली मुजरिम कौन हैं? इसको लेकर हर जगह अलग-अलग चर्चाएं चल रही हैं.

पहला वर्ल्ड कप खेल रहे थे सूर्या, श्रेयस और गिल
मगर इस मैच में गौर करने वाली एक बात ये है कि फाइनल मुकाबले में कुछ खिलाड़ियों की अनुभवहीनता ही भारतीय टीम को ले डुबी. इस फाइनल मुकाबले में 3 नौसिखिए बल्लेबाज शुभमन गिल, श्रेयस अय्यर और सूर्यकुमार यादव उतरे थे. यह तीनों ही प्लेयर अपना पहला वर्ल्ड कप खेल रहे थे.

इन तीनों का ही प्रदर्शन लीग स्टेज तक शानदार रहा था, लेकिन फाइनल के दबाव के आगे बिखरते नजर आए. श्रेयस ने फाइनल से पहले तक 10 मैचों में 464 रन बनाए थे. गिल ने लीग स्टेज के 8 मुकाबलों में 327 और सूर्या ने 6 मैचों में 88 रन बनाए थे.

फाइनल से पहले वर्ल्ड कप में तीनों का प्रदर्शन
– श्रेयस ने 10 मैचों में 464 रन बनाए
– गिल ने लीग स्टेज के 8 मुकाबलों में 327 बनाए थे
– जबकि सूर्या ने 6 मैचों में 88 रन ही बना सके

फाइनल से पहले 2 शतक लगा चुके थे श्रेयस
लीग स्टेज में श्रेयस ने 2 दमदार शतक भी लगाए थे. गिल भी कुछ मौकों पर आकर शतक से चूके हैं. मगर फाइनल में आकर इन तीनों का हाल बेहाल हो गया. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खिताबी मुकाबले का दबाव यह तीनों झेल नहीं सके और ताश के पत्तों की तरह बिखर गए.

फाइनल मुकाबले में ओपनिंग करते हुए गिल 7 गेंदों पर सिर्फ 4 रन ही बना सके. इसके बाद चौथे नंबर पर आए श्रेयस अय्यर पर मिडिल ऑर्डर को संभालने की जिम्मेदारी थी, लेकिन वो भी 3 गेंदों पर 4 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इस तरह टॉप और मिडल ऑर्डर दोनों ढहते नजर आए.

निचले क्रम में मजबूती नहीं दे सके सूर्यकुमार
फिर 7वें नंबर पर उतरे सूर्या के कंधों पर निचले क्रम में पारी को संभालने और तेजी से रन बनाकर बड़ा स्कोर बनाने का जिम्मा था. मगर टी20 इंटरनेशनल के नंबर-1 प्लेयर सूर्या ने बहुत ही धीमी पारी खेली. उन्होंने 28 गेंदों पर 18 रन बनाए. ऐसे में इन तीनों नौसिखिए प्लेयर के कारण भारत का टॉप, मिडिल और लोअर तीनों ही ऑर्डर ढहते नजर आए.

यदि इन तीनों में से कोई एक भी प्लेयर अच्छा स्कोर बनाता तो एक बड़ी पार्टनरशिप संभव थी. इस वजह से भारतीय टीम का भी बड़ा स्कोर बन सकता था. इस समीकरण से मैच का नतीजा भारत के पक्ष में आने की भी पूरी उम्मीद थी. मगर हकीकत यही है कि फाइनल जैसे मुकाबले के दबाव में यह तीनों बिखर गए और टीम को 6 विकेट से हार झेलनी पड़ी.

फाइलन मुकाबले में तीनों का प्रदर्शन
– श्रेयस ने 3 गेंदों पर 4 रन बनाए
– गिल ने 7 बॉल खेलीं और 4 स्कोर कर सके
– जबकि सूर्या ने 28 गेंदें खेलकर सिर्फ 18 रन बनाए

About bheldn

Check Also

‘लिख कर दो कि…’ चैम्पियंस ट्रॉफी से पहले पाकिस्तान की गुहार, भारत से मांगी गारंटी

लाहौर, अगले साल अपनी मेजबानी में होने वाली चैम्पियंस ट्रॉफी 2025 को लेकर पाकिस्तान क्रिकेट …