सचिन के बॉडीगार्ड ने की आत्महत्या, मुंबई रवाना होने से पहले खुद को मारी गोली, सलमान की भी संभाली थी सुरक्षा

जलगांव,

भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के घर पर तैनात सुरक्षा दस्ते में शामिल एक पुलिस कांस्टेबल ने बुधवार को महाराष्ट्र के जलगांव जिले में अपने गृहनगर में कथित तौर पर खुदकुशी कर ली। एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि राज्य रिजर्व पुलिस बल (एसआरपीएफ) में तैनात प्रकाश गोविंद कापड़े (39) ने तड़के सरकारी बंदूक से खुद को गोली मार ली। कापड़े पिछले सप्ताह परिवार के साथ अपने गृहनगर जामनेर गए थे।

खुद के सिर में गोली मार ली
अधिकारी ने बताया कि शुरुआती जांच के अनुसार वह रात करीब डेढ़ बजे उठे और खुद के सिर में गोली मार ली। गोली की आवाज सुनकर घर के अन्य लोग भी जाग गए और उन्हें खून से लथपथ अवस्था में पाया। अधिकारी ने बताया कि कापड़े को अस्पताल ले जाया गया, लेकिन अस्पताल पहुंचने से पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

कोई सुसाइड नोट नहीं मिला
घटना के बाद जामनेर पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची। अधिकारी ने बताया कि कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। कापड़े 15 साल पहले एसआरपीएफ में शामिल हुए थे और वर्तमान में प्रतिनियुक्ति पर महाराष्ट्र पुलिस की विशेष सुरक्षा इकाई (एसपीयू) में कार्यरत थे।

15 साल से पुलिस विभाग में थे प्रकाश कापड़े
प्रकाश कापड़े पिछले 15 सालों से मुंबई पुलिस विभाग में एसआरपीएफ जवान के रूप में कार्यरत थे। वह छह महीने सेचिन तेंदुलकर के बॉडीगार्ड के तौर पर काम कर रहे थे। चार दिन पहले छुट्टी होने के कारण वह मतदान के लिए जलगांव जिले के अपने पैतृक गांव जामनेर आये थे। दो दिन पहले वह अपने परिवार के साथ दर्शन के लिए शेगांव गए थे। जामनेर के गणपति नगर में माता, पिता, पत्नी, दो बच्चे, भाई, भाभी के परिवार के साथ रहते थे।

आधी रात में उठाया गया कदम
तीन दिन से प्रकाश अपने परिवार के साथ मौज-मस्ती कर रहे थे। बीते मंगलवार की रात खाना खाने के बाद परिवार के सभी लोग सोने चले गए। रात करीब 1.30 बजे प्रकाश घर के ऊपर वाले कमरे में गए। उस जगह पर सर्विस रिवॉल्वर से कापड़े ने सिर में दो गोली मारी। इसके बाद वह वहीं ढेर हो गए।

सूचना पर पुलिस दौड़ी
आवाज सुनकर उसकी मां और परिजन दौड़कर आए। घटना की सूचना जैसे ही पुलिस को मिली तो जामनेर पुलिस थाने के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे। उन्होंने घटना का पंचनामा बनाया। प्रकाश कापड़े की सर्विस रिवॉल्वर में दस गोलियां लगी थीं। पुलिस इंस्पेक्टर किरण शिंदे ने संवाददाताओं को बताया कि दो गोलियां चलाई गईं।

मुंबई जाने से पहले ऐसा कदम
प्रकाश कापड़े आज बुधवार सुबह 8 बजे मुंबई के लिए रवाना होने वाले थे। क्योंकि उनकी चार दिन की छुट्टियां खत्म हो रही थीं। हालांकि उससे पहले ही उन्होंने आत्महत्या कर ली। इस बीच जब कोई चिंता नहीं थी तो उन्होंने आत्मघाती कदम क्यों उठाया? परिवार के लोग और रिश्तेदार भी यह सवाल पूछ चुके हैं।

सलमान खान सहित राजनीतिक नेताओं के लिए भी की सुरक्षा
प्रकाश कापड़े 2009 में महाराष्ट्र रिजर्व फोर्स में भर्ती हुए थे। इसके बाद उन्हें बड़ी-बड़ी हस्तियों के बॉडीगार्ड की जिम्मेदारी दी गई। प्रकाश कापड़े ने युवा सेना के आदित्य ठाकरे, मंत्री नारायण राणे, मंत्री छगन भुजबल, सलमान खान के लिए भी काम किया। सचिन तेंदुलकर की सुरक्षा में चार महीने के लिए बॉडीगार्ड की जिम्मेदारी दी गई थी।

सचिन तेंदुलकर के घर पर थे तैनातअधिकारी ने बताया कि उन्हें पिछले साल बांद्रा स्थित सचिन तेंदुलकर के घर पर तैनात किया गया था। उन्होंने कहा कि आत्महत्या का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है और जांच जारी है।

About bheldn

Check Also

राजस्थान: चंबल नदी में मिला 3 साल की मासूस का शव, रेप के बाद हत्या, दो नाबालिग अरेस्ट

धौलपुर, राजस्थान के धौलपुर जिले में चंबल नदी से एक तीन साल की मासूम बच्ची …