ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार, प्रेसिडेंट और विदेश मंत्री लापता

नई दिल्ली,

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी को ले जा रहा हेलिकॉप्टर रविवार (19 मई) को एक हादसे का शिकार हो गया. घटना की जानकारी मिलने पर वहां रेस्क्यू टीम को भेजा गया. सामने आया है कि ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों को ले जा रहा ये हेलिकॉप्टर रविवार को उत्तर-पश्चिमी ईरान के जोल्फा में दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

बचाव दल ने ट्रेस कर लिया राष्ट्रपति का हेलिकॉप्टर
समाचार एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार, एक अधिकारी ने कहा कि रईसी और विदेश मंत्री होसैन अमीराबदोल्लाहियान इस दुर्घटनाग्रस्त हुए हेलिकॉप्टर में सवार हैं. रविवार शाम को आई खबर के मुताबिक हेलिकॉप्टर से संपर्क नहीं हो सका था, लेकिन अब सामने आया है कि ईरानी समाचार एजेंसी “तस्नीम” ने कुछ समय पहले दावा किया है कि, राष्ट्रपति के दो साथियों से संपर्क किया गया. वहीं बचाव दल ने राष्ट्रपति रईसी के हेलिकॉप्टर को ट्रेस कर लिया है.

रविवार शाम को सामने आई हादसे की जानकारी
बता दें कि रविवार शाम के सामने आया कि, ईरान के राष्ट्रपति के हेलिकॉप्टर की हार्ड लैंडिग हुई. इसकी पुष्टि आंतरिक मंत्री अहमद वाहिदी ने की. रईसी ईरान के पूर्वी अज़रबैजान प्रांत में यात्रा पर थे. यह घटना ईरान की राजधानी तेहरान से लगभग 600 किलोमीटर (375 मील) उत्तर-पश्चिम में जोल्फा शहर के पास हुई. सामने आया है कि कथित तौर पर तीन हेलिकॉप्टर काफिले में थे. हालांकि दो हेलिकॉप्टर लौट आए हैं.

पहले आई थीं हेलिकॉप्टर के हार्ड लैंडिंग की खबरें
रॉयटर्स ने अधिकारी के हवाले से कहा, “हम अभी भी आशान्वित हैं, लेकिन दुर्घटनास्थल से आ रही जानकारी बहुत चिंताजनक है.” पहले यह बताया गया था कि हेलिकॉप्टर ने “हार्ड लैंडिंग” की थी, लेकिन समाचार एजेंसी आईआरएनए ने अब रिपोर्ट दी है कि हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया है. इसके बारे में चोटों या क्षति के बारे में अभी तक कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है.

खराब मौसम से राहत कार्य में हो रही समस्या
ईरानी न्यूज एजेंसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि नई बचाव टीमें और कुछ पर्वतारोही रेस्क्यू अभियान में शामिल हो गए हैं. रिपोर्टर ने कहा, “मौसम बेहद ठंडा है; खराब मौसम के कारण हवाई खोज और हेलिकॉप्टर उड़ानें संभव नहीं हैं, और बचाव कार्य में मुश्किल आ रही है. यह घटना कथित तौर पर क्षेत्र में घने कोहरे के कारण हुई.

तेहरान से 600 किमी दूर जोल्फा में हुआ हादसा
प्रेस टीवी के अनुसार, ईरान के आंतरिक मंत्री अहमद वाहिदी ने पुष्टि की थी कि राष्ट्रपति को ले जा रहे एक हेलिकॉप्टर को तेहरान से लगभग 600 किमी दूर पूर्वी अजरबैजान में जोल्फा में हार्ड लैंडिंग करनी पड़ी.

काफिले में थे तीन हेलिकॉप्टर
इस काफिले में तीन हेलिकॉप्टर थे, जिनमें से दो पर मंत्री और अधिकारी सवार थे और वे सुरक्षित अपने गंतव्य पर पहुंच गए. सरकारी ईरानी समाचार एजेंसी ने बताया कि ईरान के विदेश मंत्री होसैन अमीराब्दुल्लाहियान, ईरान के पूर्वी अज़रबैजान प्रांत के गवर्नर और अन्य अधिकारी और अंगरक्षक, हेलिकॉप्टर में रईसी के साथ यात्रा कर रहे थे. प्रेस टीवी की रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों ने कहा कि खराब मौसम की स्थिति के कारण ईरानी रेड क्रिसेंट सोसाइटी की बचाव टीमों के लिए घटना स्थल तक पहुंचना मुश्किल हो गया है. ड्रोन इकाइयाँ भी आपातकालीन ऑपरेशन में सहायता कर रही हैं.

बांध के उद्घाटन के लिए गए थे ईरानी राष्ट्रपति
रईसी 19 मई की सुबह अज़रबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव के साथ एक बांध का उद्घाटन करने के लिए अज़रबैजान गए थे, एसोसिएटेड प्रेस ने बताया, यह तीसरा बांध है जिसे दोनों देशों ने अरास नदी पर बनाया है. सरकारी टीवी ने तस्वीरें प्रसारित कीं जिनमें लोगों को राष्ट्रपति की सलामती के लिए मशहद शहर के साथ-साथ क़ोम और देश भर के अन्य स्थानों में इमाम रज़ा तीर्थ पर प्रार्थना करते हुए दिखाया गया.

पीएम मोदी ने जताई चिंता
भारत के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने हेलिकॉप्टर दुर्घटना के बाद चिंता व्यक्त की और एक्स पर एक पोस्ट में कहा, ‘राष्ट्रपति रईसी की हेलिकॉप्टर उड़ान के संबंध में रिपोर्टों से अत्यधिक चिंतित हूं. इस संकट की इस घड़ी में ईरानी लोगों के साथ एकजुटता से खड़े हैं और राष्ट्रपति और उनके साथियों की भलाई के लिए प्रार्थना करते हैं.’

अमेरिका रख रहा है स्थिति पर नजर
ईरान पर आए इस संकट के बाद अलग-अलग देशों से इसे लेकर प्रतिक्रिया सामने आई है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन की प्रवक्ता कैरिन जीन-पियरे ने एयर फ़ोर्स वन में संवाददाताओं से कहा कि राष्ट्रपति को स्थिति के बारे में जानकारी दी गई है. वहीं, अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, “हम ईरान में राष्ट्रपति और विदेश मंत्री को ले जा रहे एक हेलीकॉप्टर की संभावित हार्ड लैंडिंग की रिपोर्टों पर करीब से नजर रख रहे हैं.’

क्या बोले अजरबैजान के राष्ट्रपति?
अजरबैजान के राष्ट्रपति, इल्हाम अलीयेव ने कहा कि, ‘आज, ईरान के इस्लामी गणराज्य के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी को मैत्रीपूर्ण विदाई देने के बाद, हम शीर्ष प्रतिनिधिमंडल को ले जा रहे एक हेलीकॉप्टर के ईरान में दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर से बहुत परेशान हैं.’ सर्वशक्तिमान अल्लाह से हमारी प्रार्थनाएं राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और उनके साथ आए प्रतिनिधिमंडल के साथ हैं.

एक पड़ोसी, मित्र और भाईचारे वाले देश के रूप में अज़रबैजान गणराज्य किसी भी आवश्यक सहायता की पेशकश करने के लिए तैयार है.’ बता दें कि रईसी अज़रबैजान के साथ ईरान की सीमा से लौट रहे थे, जब उनका हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

इराक ने की मदद की पेशकश
इराकी सरकार ने एक बयान में कहा कि उसने अपने आंतरिक मंत्रालय, रेड क्रिसेंट और अन्य संबंधित निकायों को खोज अभियान में पड़ोसी ईरान को मदद की पेशकश करने का निर्देश दिया है.

About bheldn

Check Also

हम तो तुलसीदास जैसे गंवार… राधारानी के बाद पंडित प्रदीप मिश्रा का नया विवाद, संतों ने कहा- शंकर का नाम लेकर जहर उगल रहे

भोपाल: कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा अब नए विवाद में घिर गए हैं। राधारानी का विवाद …