All Eyes On Rafah: Palestine के सपोर्ट में स्वरा भास्कर, गौहर खान ने इजरायल के PM को दी बद्दुआ

मई महीने के शुरुआती दिनों में ही गाजा पट्टी में हमास के आखिरी गढ़ कहे जाने वाले राफा के शरणार्थी शिविर पर इजराइली सेना एक बड़ी एयरस्ट्राइक की थी। इस बमबारी में 35 से ज्यादा फिलिस्तीनी नागरिकों की मौत हो गई थी। इसके बाद सोशल मीडिया पर ‘ऑल आईज ऑन राफा’ ट्रेंड होने लगा। ये कैंपेन युद्ध को लेकर एक जागरुकता फैलाने के लिए शुरू किया गया है, जिसमें आप लोगों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। टीवी जगत के सितारों ने भी इस पर रिएक्ट किया है। स्वरा भास्कर से लेकर वरुण धवन, गौहर खान जैसे बड़े सितारों ने फिलिस्तीनियों के सपोर्ट में आगे आकर पोस्ट शेयर की है.

जन्नत जुबैर, पंखुड़ी अवस्थी, स्वरा भास्कर, श्वेता तिवारी, आयशा खान, मिस्टर फैसू, गौहर खान, हिना खान, गौतम रोडे समेत अन्य ने इंस्टाग्राम पर इस कैंपेन के तहत अपना सपोर्ट जताया है। इजरायल प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अपनी सेना की तरफ से हुई गलती को माना है। उनका कहना है कि हमास परिसर को निशाना बनाया गया था। लेकिन निर्दोष लोगों को हुए नुकसान पहुंचा और दुखद घटना घटी।

फिलिस्तीन के लिए स्वरा ने मांगा इंसाफ
बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर कई पोस्ट शेयर करके फिलिस्तीन के सपोर्ट में अपनी आवाज उठाई है. मासूम फिलिस्तीनियों के कैंप पर बमबारी करने पर स्वरा काफी गुस्से में हैं. उन्होंने इजरायल की कड़े शब्दों में निंदा की है.

गौहर ने इजरायल के पीएम को दी बद्दुआ
राफा में हुए हमले में मारे गए लोगों की मौत के बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने ये माना कि उन्होंने निर्दोष लोगों को नुकसान ना पहुंचाने की कोशिश की थी, लेकिन उनसे गलती हो गई और कई मासूमों की जान चली गई. ऐसे में गौहर ने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को खरी-खोटी सुनाई है. उन्होंने एक पोस्ट को री-शेयर करके लिखा- उम्मीद करती हूं कि हम आपको जहन्नम में जलता हुआ देखें. आमीन.

श्वेता तिवारी से लेकर आयशा खान ने किया रिएक्ट
अब आयशा खान ने शहर में हाल ही में हुई गोलीबारी के बारे में बात करते हुए रोते हुए एक वीडियो बनाया, जबकि पंखुड़ी, हिना और अन्य लोगों ने वहाँ बेहतरी की कामना करते हुए छोटे-छोटे नोट लिखे। पंखुड़ी ने लिखा, ‘यह दुखद है! इंसानियत दांव पर है! दुख की बात है कि इतनी सारी आवाजों को सुना नहीं जा रहा। और हिंसा के अपराधियों पर कोई असर नहीं। शर्म की बात है!’ दिशा परमार ने लिखा, ‘यह शब्दों से परे दिल दहला देने वाला है!! कोई इतना क्रूर कैसे हो सकता है!’

About bheldn

Check Also

152 दिन, 143 सुइसाइड, यवतमाल को पीछे छोड़ महाराष्ट्र में किसान आत्महत्या की राजधानी बना अमरावती

नागपुर किसानों की आत्महत्या मामले में महाराष्ट्र टॉप पर रहता है। पिछले कुछ वर्षों में …