थप्पड़ कांड पर चुप बॉलीवुड, कंगना बोलीं- आतंकी हमले का जश्न मनाने वालों तुम्हारे साथ भी होगा…

बॉलीवुड एक्ट्रेस और ‘मंडी’ की सांसद कंगना रनौत के साथ गुरुवार को एक शॉकिंग घटना हुई. पहली बार सांसद बनने के बाद वो दिल्ली जा रही थीं. लेकिन जब वो चंडीगढ़ एयरपोर्ट पहुंचीं तो वहां CISF की महिला जवान कुलविंदर कौर ने उनके साथ गालीगलौच की और थप्पड़ मारा. महिला को सस्पेंड कर दिया गया है. कंगना ने उनके साथ हुई बदसलूकी पर गुस्सा जाहिर किया है.

इंडस्ट्री पर भड़कीं कंगना
सोशल मीडिया पर कंगना के साथ हुई घटना की लोगों ने निंदा की है. फैंस एक्ट्रेस के सपोर्ट में उतरे हैं. लेकिन अभी तक फिल्म इंडस्ट्री से किसी का रिएक्शन इस मामले में नहीं आया है. इससे कंगना बेहद आहत हैं. उन्होंने इंस्टा स्टोरी पर एक पोस्ट लिख इंडस्ट्री के लोगों को कॉल आउट किया है. हालांकि बाद में एक्ट्रेस ने ये पोस्ट डिलीट कर दी.

सेलेब्स की चुप्पी पर बोलीं कंगना
इसमें कंगना ने लिखा था- डियर फिल्म इंडस्ट्री आप सभी लोग या तो एयरपोर्ट पर मुझ पर हुए हमले को सेलिब्रेट कर रहे हैं या फिर इस पर पूरी तरह चुप्पी साधे हुए हैं. लेकिन याद रखना अगर कल को आप अपने देश की किसी सड़क पर या दुनिया में कहीं और चल रहे होंगे, तब कुछ इजरायली/फिलिस्तानी आप या आपके बच्चे पर हमला करते हैं…बस इसलिए क्योंकि आप सभी राफा के लिए खड़े थे, इजरायली होस्टेज के समर्थन में थे…तब आप देखेंगे मैं आपके बोलने की आजादी के लिए लड़ूंगी… अगर किसी दिन आपको लगे कि मैं क्यों, मैं कहां हूं, तो याद रखना आप मैं नहीं…

एक्ट्रेस ने दूसरी पोस्ट में लिखा- ‘ऑल आइज ऑन राफा’ गैंग ये आपके और आपके बच्चों के साथ भी हो सकता है. जब आप किसी पर आतंकी हमले को सेलिब्रेट करते हैं. उस दिन के लिए तैयार हो जाओ जब ये सब आपके साथ होगा.

कंगना के साथ क्या हुआ था?
कंगना को चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर 35 साल की कुलविंदर ने थप्पड़ जड़ा था. वो पिछले 15 सालों से CISF में कार्यरत है. जानकारी के मुताबिक, कंगना ने अभी इस मामले में कोई एफआईआर दर्ज नहीं कराई है. आरोपी महिला कर्मी कंगना के किसान आंदोलनकारियों पर दिए पुराने बयान से नाराज थी.

महिला जवान का एक वीडियो वायरल है जिसमें उसने कहा कि कंगना ने 2020 में कहा था किसान आंदोलन में प्रदर्शन कर रही महिलाओं को 100-200 रुपये दिए जाते हैं. उस प्रदर्शन में मेरी मां भी वहां बैठी थी. दूसरी तरफ, इस घटना के बाद कंगना ने पंजाब में बढ़ती आतंकी सोच पर चिंता जताई है.

About bheldn

Check Also

152 दिन, 143 सुइसाइड, यवतमाल को पीछे छोड़ महाराष्ट्र में किसान आत्महत्या की राजधानी बना अमरावती

नागपुर किसानों की आत्महत्या मामले में महाराष्ट्र टॉप पर रहता है। पिछले कुछ वर्षों में …