मोदी 3.0 में कौन-कौन बना कैबिनेट मंत्री, किसे मिला राज्यमंत्री का दर्जा, देखें लिस्ट

नई दिल्ली,

मोदी सरकार 3.0 का शपथ ग्रहण समारोह रविवार को राष्ट्रपति भवन में संपन्न हो गया. नरेंद्र मोदी ने तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ ली. उनके साथ कैबिनेट में शामिल होने वाले मंत्रियों ने भी पद एवं गोपनीयता की शपथ ली. पीएम मोदी की कैबिनेट में उनके अलावा 30 मंत्री शामिल हुए हैं. मोदी सरकार 3.0 में पांच मंत्रियों (स्वतंत्र प्रभार) को जगह मिली. इसके अलावा 36 राज्य मंत्रियों को शपथ दिलाई गई.

विदेशी मेहमान भी रहे मौजूद
शपथ ग्रहण कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे भी शामिल हुए. प्रधानमंत्री और उनके मंत्रिपरिषद की शपथ ग्रहण समारोह में भारत के पड़ोसी देशों के नेता भी मौजूद रहे. मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ और भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे ने समारोह में हिस्सा लिया.

बीजेपी के ये नेता बने मंत्री
मोदी सरकार 3.0 के शपथ ग्रहण समारोह में भाजपा नेता संजय सेठ, सतीश चंद्र दुबे, भागीरथ चौधरी, डॉ. पेम्मासनी चंद्रशेखर, भाजपा नेता कमलेश पासवान, अजय टम्टा, डॉ. एल. मुरुगन, वी सोमन्ना, निखिल खडसे, दुर्गा दास उइके, नित्यानंद राय, राजभूषण चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार में राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली.

सहयोगी दलों में ये मंत्री रहे शामिल
बीजेपी के सहयोगी दलों में मंत्री पद की शपथ लेने वाले अन्य नेताओं में एलजेपी (रामविलास) के चिराग पासवान और राष्ट्रीय लोक दल के जयंत चौधरी शामिल रहे. कुमारस्वामी, मांझी, राजीव रंजन सिंह, राम मोहन नायडू, चिराग पासवान और जयंत चौधरी ने मंत्री के रूप में शपथ ली. बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ने लोकसभा चुनावों में तीसरी बार जीत दर्ज की है.

सबसे युवा मंत्री बनें TDP के राम मोहन नायडू
तेलुगु देशम पार्टी (TDP) के सांसद राम मोहन नायडू किंजरापु ने रविवार को राष्ट्रपति भवन में राज्य मंत्री के रूप में शपथ ली. आंध्र के श्रीकाकुलम लोकसभा क्षेत्र से टीडीपी सांसद मोदी कैबिनेट 3.0 में अब तक के सबसे युवा मंत्री हैं. टीडीपी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री येरन नायडू के बेटे राममोहन नायडू 36 साल के हैं. तीन बार के सांसद राम मोहन नायडू 2014 से आंध्र प्रदेश के श्रीकाकुलम लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं. राम मोहन नायडू ने एनडीए गठबंधन में सबसे युवा कैबिनेट मंत्री बनकर अपने पिता का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. उनके पिता येरन नायडू 1996 में 39 साल की उम्र में सबसे कम उम्र के मंत्री बने थे.

पीएम मोदी की कैबिनेट की पूरी लिस्ट
कैबिनेट मंत्री
1. नरेंद्र मोदी (प्रधानमंत्री)
2. राजनाथ सिंह
3. अमित शाह
4. नितिन गडकरी
5. जेपी नड्डा
6. शिवराज सिंह
7. निर्मला सीतरमण
8. एस जयशंकर
9. मनोहर लाल खट्टर
10. एचडी कुमारस्वामी
11. पीयूष गोयल
12. धर्मेंद्र प्रधान
13. जीतनारम मांझी
14. राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह
15. सर्वानंद सोनेवाल
16. डॉक्टर वीरेंद्र कुमार
17. राम मोहन नायडू
18. प्रह्लाद जोशी
19. जुएल ओरांव
20. गिरिराज सिंह
21. अश्विनी वैष्णव
22. ज्योतिरादित्य सिंधिया
23. भूपेंद्र यादव
24. गजेंद्र सिंह शेखावत
25. अन्नपूर्णा देवी
26. किरण रिजिजू
27. हरदीप पुरी
28. मनसुख मांडविया
29. जी किशन रेड्डी
30. चिराग पासवान
31. सीआर पाटिल

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार)
32. राव इंद्रजीत सिंह
33. जितेंद्र सिंह
34. अर्जुन राम मेघवाल
35. प्रतापराव गणपतराव जाधव
36. जयंत चौधरी

राज्य मंत्री
37. जितिन प्रसाद
38. श्रीपद यशो नाइक
39. पंकज चौधरी
40. कृष्णपाल गुर्जर
41. रामदास अठावले
42. रामनाथ ठाकुर
43. नित्यानंद राय
44. अनुप्रिया पटेल
45. वी सोमन्ना
46. चंद्रशेखर पेम्मासानी
47. एसपी सिंह बघेल
48. शोभा करांदलाजे
49. कीर्तिवर्धन सिंह
50. बीएल वर्मा
51. शांतनु ठाकुर
52. सुरेश गोपी
53. एल मुरगन
54. अजय टमटा
55. बंदी संजय
56. कमलेश पासवान
57. भागीरथ चौधरी
58. सतीश दुबे
59. संजय सेठ
60. रवनीत सिंह बिट्टू
61. दुर्गादास सुइके
62. रक्षा खडसे
63. सुकांता मजूमदार
64. सावित्री ठाकुर
65. तोखन साहू
66. राजभूषण चौधरी
67. श्रीनिवास वर्मा
68. हर्ष मल्होत्रा
69. नीमूबेन बमभानिया
70. मुरलीधर मोहोल
71. जॉर्ज कुरियन
72. पबित्रा मार्गेरिटा

शपथ ग्रहण से पहले महाराष्ट्र में पोर्टफोलियो को लेकर खींचतान
शपथ ग्रहण से पहले महाराष्ट्र में पोर्टफोलियो को लेकर NCP और NDA के बीच मतभेद की खबरें आई थीं. हालांकि रविवार शाम को सामने आया कि NCP (अजित गुट) राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के बजाय कैबिनेट मंत्री का ही पद चाहती थी. NCP चीफ अजित पवार ने कहा कि, ‘हमें राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के बारे में सूचना मिली लेकिन प्रफुल्ल पटेल खुद भारत सरकार के कैबिनेट मंत्री पहले रह चुके हैं. हमें खुशी है कि उन्होंने हमें सूचना दी लेकिन उनके लिए यह पद लेना थोड़ा कठिन है…जो अटकलें लगाई जा रही हैं वह गलत हैं, कोई मतभेद नहीं है. ‘ वहीं, एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने भी कहा कि, ‘गठबंधन में कोई मतभेद नहीं है. मुझे राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के लिए सूचना मिली है, लेकिन मैं पहले से कैबिनेट मंत्री था, इसलिए मैंने इस ओहदे को स्वीकारन करने से मना कर दिया था. इसे लेकर गठबंधन में कोई मतभेद नहीं है.’

About bheldn

Check Also

‘मैं धर्मनिरपेक्ष हूं, यादव-मुसलमानों के लिए भी काम करूंगा’, बयान पर हंगामे के बाद JDU सांसद की सफाई

भागलपुर, जेडीयू के नवनिर्वाचित सांसद देवेश चंद्र ठाकुर ने कुछ दिन पहले कहा था कि …