रिवार्ड स्कीम की लड़ाई दिल्ली तक लड़ेगी एचएमएस

भोपाल

हेस्टू एचएमएस के महासचिव अमर सिंह राठौर ने बताया कि चुनाव में एचएमएस का वादा था कि वह चुनाव जीतने के बाद भेल कर्मचारियों की सबसे बड़ी मांग रिवार्ड स्कीम को लागू करवायेंगे । इसके लिये यूनियन आखरी दम तक लड़ाई लड़ेगी । उन्होंने बताया कि हमने भेल प्रशासन का ध्यान आकर्षित करने हर महाप्रबंधक से निवेदन किया है कि वह यह मांग पूरी कराने महाप्रबंध प्रमुख को बतायें । इसके बाद भी रिवार्ड स्कीम शुरू नहीं की गई तो यूनियन दिल्ली तक लड़ाई लड़ेगी ।

इसी कड़ी में शुक्रवार को हेस्टू ,केटीयू तथा यूएमएस का प्रतिनिधि मंडल फेब्रिकेशन विभाग के जीएम रविन्द्र कुमार राय से मुलाकात की । एचएमएस के जितेंद्र सिंह ने प्रतिनिधि मंडल के सदस्यो का फेब्रिकेशन के जीएम से परिचय कराया एवम समस्याओं पर प्रकाश डाला। एचएमएस के वरिष्ठ सचिव हेमन्त सिंह ने कहा कि कारखाने में वर्किंग मैन पावर कम होती जा रही है लेकिन वर्ष 2022-23 के उत्पादन लक्ष्य 5012 करोड़ को देखते हुए,कार्पोरेट की रिवार्ड स्कीम आने तक, भोपाल की क्षेत्रीय रिवार्ड स्कीम अतिशीघ्र प्रारंभ की जानी चाहिए। हेस्टू एवं सहयोगी संगठन विभाग के लक्ष्य को प्राप्त करने में पूरा सहयोग करेगा।

प्रतिनिधि मंडल में प्रमुख रूप से एचएमएस के एसके लोधी , सलाउद्दीन खान, नितिन दुबे, एस सेंथिल कुमार, फ्लस राठौर, योगेश जाटव, विजय तिवारी, प्रेम चंद्र डांग, सुरेश मरकाम, राजकुमारी सैनी , आरएस अरोरा, व्ही एस चाहर, विकास तिवारी, मो हाजिक,मनीष टेकरे के अध्यक्ष जितेंद्र सक्सेना,आरएस मरकाम, राखी कासदे, छोटे लाल कोरी शैलेन्द्र सिंह ,रामनारायण गोंड , घनश्याम बोबाड़े के साथ अन्य यूनियन पदाधिकारी उपस्थित थे।

About bheldn

Check Also

29 हजार पेड़ों को बचाने के लिए बांधा रक्षासूत्र, लिया संकल्प

भोपाल। राजधानी में 29 हजार पेड़ों को बचाने के लिए भेल के श्रमिक नेता दीपक …