50 साल बाद ज्वाइंट कमेटी की बैठक में भाग नहीं लेगी इंटक

भोपाल

मंगलवार को दिल्ली में भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड भेल की सभी यूनिटों के प्रतिनिधियों और प्रबंधन के बीच ज्वाइंट कमेटी की बैठक होगी । इस बैठक में भेल से जुड़े कर्मचारियों मुद्दे की नहीं बल्कि 2022 से 2027 के स्टेटरजिक प्लान पर बातचीत होगी। यह भी इत्फाक है कि इस बैठक में 50 साल बाद यानी पहली बार भेल की सबसे बड़ी टे्रड यूनियन कही जाने वाली हेम्टू इंटक भेल से प्रतिनिधित्व नहीं करेगी । कारण साफ है कि इस यूनियन को प्रतिनिधि यूनियन के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा जबकि यह कहा जाता है कि जेसीएम की बैठक में हेम्टू इंटक कर्मचारियों के मुद्दों का जोरदार तरीके से उठाती है हालांकि भेल में यूनिट स्तर पर इंटक आज भी ऊंचे ओहदे पर है ।

जानकारी के मुताबिक इस बैठक में भेल की बीएमएस यूनियन, एचएमएस,ऐबू और सीटू यूनियन के प्रतिनिधि भाग लेंगे । यहां के प्रतिनिधि भेल भोपाल की इन्सेंटिव इन्सलरी को तत्काल लागू हो साथ ही एसआईपी, पीपी बोनस के भुगतान की मांग तो कर रहे हैं लेकिन इस पर चर्चा नहीं होगी यह जरूर है कि इस मुद्दे को भेल के सीएमडी,डायरेक्टर एचआर या ईडी एचआर सांत्वना के रूप में इन नेताओं से बैठक से अलग से चर्चा कर सकते हैं । इस चर्चा का क्या परिणाम निकलेंगे यह तो मंगलवार को सोशल मीडिया पर दिखाई देना शुरू हो जायेंगे।

About bheldn

Check Also

डिजिटल प्रौद्योगिकी तक पहुंच एक बुनियादी अधिकार है जो हर किसी के लिए सुलभ होना चाहिए—डॉ शुक्ला

— आसरे ने ग्रामीण-शहरी विभाजन को एकजुट करने के लिए डिजिटल साक्षरता कार्यक्रम का किया …